एग्‍जाम के अलावा इन मामलों में पूछते हैं सवाल
नई द‍िल्‍ली (पीटीआई)। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) का परीक्षा संबंधी चिंताओं को दूर करने के ल‍िए एक हेल्‍पलाइन नंबर है। हर साल फरवरी से अप्रैल तक के एग्‍जाम पीर‍ियड में बड़ी संख्‍या में स्‍टूडेंट कॉल करते हैं। यहां काउंसलरों द्वारा परीक्षा संबंधी चिंताओं को दूर किया जाता है। इन कॉल्‍स में स्‍टूडेंट स‍िर्फ एग्‍जाम के अलावा दिल टूटने के मामले, पैरेंट्स के साथ व‍िवाद जैसी तमाम समस्‍याओं का हल पूछते हैं। खास बात तो यह है क‍ि परीक्षा के नतीजे घोषित होने के बाद भी लगातार फोन करते रहते हैं।

अभ‍िवावक भी करते हैं हेल्‍पलाइन नंबर पर कॉल

ऐसे में इस साल एक फरवरी से 16 मई के बीच का र‍िकॉर्ड न‍िकाला गया है। इसमें आधिकारिक आंकड़ों के मुताबि‍क हेल्पलाइन पर लड़कियों की तुलना में लड़कों के तीन गुना अधिक फोन आए हैं। सीबीएसई द्वारा इस साल अब तक करीब 3467 स्‍टूडेंट की काउंसलिंग की गई है। इसमें कर‍ियर से जुड़ीं महज 74 कॉल्‍स थी। हेल्‍पलाइन नंबर पर स्‍टूडेंट के अलावा करीब 373 अभिभावकों ने भी फोन किया। इसके बाद 3094 स्‍टूडेंट की फोन कॉल में 962 फोन कॉल लड़क‍ियों की और 2132 कॉल लड़कों द्वारा क‍िए गए थे।

सुबह आठ बजे से रात 10 बजे तक होती है बात
हेल्‍पलाइन नंबर पर 17 फोन दिव्यांग बच्चों द्वारा और आठ फोन ऐसे ही बच्‍चों के पैरेंट्स ने क‍िए। वहीं स्‍टूडेंट की कॉल्‍स में 10वीं कक्षा के 1523 और 12वीं कक्षा के 1431 स्‍टूडेंट ने कॉल क‍िया। दूसरे बोर्ड से भी 177 कॉल आई। इनमें अध‍िकाश उत्‍तर प्रदेश बोर्ड के थे। इस वर्ष टोल फ्री नंबर 800118004 पर स्‍टूडेंट के सवालों का जवाब भारत व व‍िदेशों में मौजूद 91 काउंसलर ने दि‍ए। वहीं हेल्पलाइन नंबर पर सुबह आठ बजे से रात 10 बजे तक फोन कॉल देश के किसी भी हिस्से से आराम से किए जा सकते हैं।

वो मौके जब अनोखे अंदाज में कैमरे में कैद हुए थे पूर्व प्रधानमंत्री, बेहद खास हैं राजीव गांधी की ये 10 तस्‍वीरें

कर्नाटक : कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में जाएंगे अखिलेश, इन नेताओं का नाम भी है चर्चा में

National News inextlive from India News Desk