- दून के परेड ग्राउंड में शुरु हुआ तीन दिवसीय एग्रो व डेरी एक्स्पो 2018

- 28 बार नेशनल व इंटरनेशनल चैंपियन रहा रूस्तम रहा आकर्षण का केंद्र

- युवराज का बेटा दून के तूफान को भी देखने वाली की रही भीड़

dehradun@inext.co.in
DEHRADUN: दून में पहली बार आयोजित हो रही इंटरनेशनल डेरी एंड एग्री एक्स्पो में बीएमडबल्यू और मर्सडीज से भी महंगे पशुओं को देख दूनाइट्स हैरान रह गए. सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शुक्रवार को एक्स्पो का इनॉग्रेशन किया. एक्स्पो में सुलतान, राजा, रुस्तम, सोनू व किंग बुल के अवावा लाडो भैंस आकर्षण का केंद्र बनी है.

यहां-यहां से पहुंचे पशुपालक

हरियाणा, पंजाब, यूपी

बिकने को तैयार नहीं 11 करोड़ का रुस्तम

हरियाणा के गतौली से पहुंचा रुस्तम बुल एक्स्पो का स्पेशल अट्रैक्शन बना रहा. रुस्तम के मालिक दलेल सिंह ने बताया कि ब्राजील और डेनमार्क द्वारा रुस्तम की कीमत 11 करोड़ रुपए तक आंकी गई है. हालांकि, वे इसे बेचने को तैयार नहीं हैं. दलेल सिंह ने बताया कि मुर्रा नस्ल का रुस्तम 25 बार नेशनल व 3 बार इंटरनेशनल चैंपियन रह चुका है. 5 वर्षीय रुस्तम को सर्वोत्तम पशुधन के लिए खुद पीएम नरेंद्र मोदी सम्मानित कर चुके हैं.

2 हजार कॉफ्स का पिता रुस्तम

दलेल सिंह ने बताया कि रुस्तम के पिता का नाम किंग है, वह अब तक दो हजार कॉफ्स (भैंस के बच्चे) का पिता बन चुका है. बताया कि रुस्तम के सीमन की कीमत 500 रुपए है और उससे तैयार भैंस रोजाना 25 किलो तक दूध देती है.

दून का तूफान है युवराज का बेटा

दून निवासी गोविंद अपने बुल तूफान के साथ एक्स्पो में शिरकत कर रहे हैं. मछली बाजार निवासी गोविंद का कहना कि उनका बुल युवराज का बेटा है. वही युवराज जिसकी बोली ब्राजील ने करीब 12 करोड़ तक आंक दी थी. जिसके नाम अब तक सबसे ज्यादा अवॉर्ड हैं. गोविंद का कहना है कि दून में युवराज का केवल एक ही बेटा है, जिसका नाम तूफान है. गोविंद के मुताबिक तूफान एक बार में 500 रुपए का चारा खाता है.

ये बुल भी आकर्षण

सुल्तान, राजा, सोनू, किंग

35 देशों की कंपनियां करती हैं प्रतिभाग

प्रोग्रेसिव डेरी फॉ‌र्म्स एसोसिएशन पंजाब के दलजीत सिंह ने कहा कि पंजाब में पहली बार 2007 में एक्स्पो की शुरुआत की गई थी. लेकिन अब पंजाब का एक्स्पो हिंदुस्तान का सबसे बड़ा एक्स्पो बन चुका है. इस शो के जरिए 5-6 लाख तक की गायों के अलावा 25 लाख के दुधारू पशु बिकने का रिकॉर्ड भी है. पंजाब में 25 एकड़ में आयोजित होने वाले शो में 35 देशों की कंपनियां प्रतिभाग करती हैं. इस दौरान उत्तराखंड डेरी फॉमर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डा. हरेंद्र सिंह रावत ने कहा कि सरकार से डेरी फॉर्मिग में एक लाख रुपए तक जीरो प्रतिशत की दर से लोन दिए जाने की मांग की गई है. सरकार दो प्रतिशत पर राजी हुई है. उन्होंने कहा कि पशुधन से दूसरे साल से ही रोजगार सृजित हो सकते हैं.

एक्स्पो पर एक नजर

-पांच कैटेगरीज में कॉम्पिटीशन.

-एक वर्ष से कम उम्र की बछिया नस्ल में हरियाणा के राजकुमार रहे प्रथम.

-दूसरे पर जीएमएस रोड निवासी अनुज गर्ग व तीसरे नंबर पर गढ़ीकैंट निवासी शिवकुमार थापा की बछिया रही.

-एक वर्ष से अधिक आयु की बछिया नस्ल में सिंहनीवाला निवासी गुलजार की बछिया प्रथम रही.

-जबकि दून के तपोवन निवासी राजकुमार दूसरे व हरियाणा के राजकुमार की बछिया तीसरे नंबर पर रही.

-एक वर्ष से अधिक की देशी गाय की बछिया पर हरियाणा निवासी प्रदीप कुमार प्रथम, करनाल के राजकुमार दूसरे व हरियाणा के शिवसिंह तीसरे नंबर पर रहे.

-एक वर्ष से अधिक आयु की जर्सी गाय की बछिया पर करनाल के रमेश की बछिया प्रथम, दूसरे पर नारसन रमेश व सहारनपुर निवासी सुबोध की बछिया तीसरे पर रही.

करनाल के रमेश की गाय ने मारी बाजी

गाय की नस्ल प्रतियोगिता में करनाल निवासी रमेश की गाय प्रथम, दूसरे पर राजीव नगर दून के सुरेंद्र नेगी और तीसरे गढ़ी कैंट के शिव थापा की गाय रही.

आज मिल्क, बुल व काउ ब्रीड कॉम्पिटीशन

एक्स्पो के पहले दिन बछिया प्रतियोगिता के बाद आज बुल, दूधारू पशु व गाय की ब्रीड पर प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा. जिसमें तमाम राज्यों के प्रतिभागी प्रतिभाग करेंगे. इसके लिए 5 लाख तक का ईनाम रखा गया है.

एक्स्पो में कल डॉग शो

एक्स्पो का कल (संडे) आखिरी दिन है. आखिरी दिन डॉग शो का आयोजन किया जाएगा. जिसमें विभिन्न प्रदेशों के डॉग आकर्षण का केंद्र होंगे.