-चलने-फिरने में लाचार मां को वोटिंग बूथ पर लेकर आए मम्फोर्डगंज के सौरभ

dhruva.shankar@inext.co.in

PRAYAGRAJ: मां गठिया के चलते चल-फिर पाने में लाचार हैं। मन में इच्छा थी कि लोकतंत्र का त्योहार सेलिब्रेट करना था। फिर क्या था, बेटे ने भी ठान लिया कि मदर्स डे पर मां की इच्छा पूरी करनी है। यह वाकया देखने में आया भारत स्काउट एंड गाइड आदर्श मतदान केन्द्र पर। ममफोर्डगंज के रहने वाले सौरभ श्रीवास्तव अपनी मां बीना श्रीवास्तव को लेकर मतदान केन्द्र पर पहुंचे तो हर किसी ने उनके जज्बे की तारीफ की।

नहीं मानी हार

सौरभ की कहानी इसलिए भी और इंस्पायर करने वाली है क्योंकि जब वह पहली बार अपनी मां को कार से लेकर पोलिंग बूथ पर पहुंचे तो उन्हें वापस लौटना पड़ा था। असल में भारत स्काउट एंड गाइड मतदान केन्द्र आदर्श मतदान केन्द्र तो जरूर था, लेकिन यहां पर व्हीलचेयर की सुविधा उपलब्ध नहीं थी। सौरभ ने अपनी मां के पैरों की हालत का हवाला देते हुए अधिकारियों से गुहार लगाई कि उन्हें कार लेकर अंदर तक जाने दें। लेकिन अधिकारियों ने नियमों का हवाला देकर उन्हें मना कर दिया। इस पर सौरभ ने व्हीलचेयर की मांग की। लेकिन यहां पर व्हीलचेयर भी नहीं थी।

स्कूटी पर बिठकरा लाए

इसके बाद सौरभ ने अपनी कार वापस मोड़ी और वापस घर चले गए। वहां मौजूद अधिकारियों ने सोचा कि वह चले गए। लेकिन थोड़ी ही देर में सौरभ फिर से मतदान केन्द्र पर थे। इस बार वह अपनी मां को स्कूटी पर बैठाकर आए थे। इतनी गर्मी में जबकि बहुत से लोग वोट डालने ही नहीं निकले, सौरभ एक नहीं, बल्कि दो-दो बार अपनी माताजी को लेकर वोट दिलवाने आए। उनका यह जज्बा देखकर अधिकारियों ने भी मन ही मन उनकी खूब तारीफ की।

एयरपोर्ट पर केक काट कर मनाया मदर्स डे

इलाहाबाद एयरपोर्ट पर मदर्स डे कुछ अलग तरीके से मनाया गया। दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरू की फ्लाइट से सफर करने पहुंची महिला पैसेंजर्स और माताओं को पैसेंजर्स हाल में बुलाया गया। इलाहाबाद एयरपोर्ट के डायरेक्टर सुनील कुमार यादव व अन्य अधिकारियों ने महिलाओं को मदर्स डे की शुभकामनाएं दी। वहीं महिलाओं से केक कटवाया गया। जगह-जगह मदर्स डे की शुभकामनाएं देते हुए कट आउट लगाए गए थे। सेल्फी प्वाइंट भी बने थे, जहां महिलाओं ने सेल्फी लिया। विजिटर्स बुक पर महिलाओं ने इस सेलिब्रेशन को यादगार बताया।