- एक साल से काट रहे थे फरारी, 5-5 हजार का था इनाम

आगरा. थाना शाहगंज पुलिस ने हत्या के मामले में मां बेटे को पकड़ कर जेल भेजा है जबकि इस मामले में महिला का पति व चालक पहले से जेल में निरुद्ध हैं. मामला रिश्तेदार की हत्या से जुड़ा हुआ है. पुलिस की विवेचना के दौरान मां बेटे का नाम प्रकाश में आया था.

दो बार हुआ था हमला

अयोध्या कुंज अर्जुन नगर निवासी भगत सिंह का पत्‍‌नी से विवाद हो गया. पत्‍‌नी मायके चली गई. 2016 में भगत सिंह को अज्ञात लोगों ने गोली मार दी लेकिन उसमें वह बच गया. उसने हमले में अपने साढू तालेवर सिंह व दो अज्ञात का नाम लिया. पुलिस ने आरोपी को साढ़ू को पकड़ कर जेल भेज दिया. पुलिस मामले की छानबीन कर रही थी. हमले के बाद भगत सिंह अपने दोस्त ब्रजमोहन के यहां पर अधिक रहता था. मार्च 2016 में वह अपने दोस्त के यहां से निकला ही था कि उसे फिर से किसी ने गोली मार दी इस बार उसकी मौत हो गई. दोस्त ने मामले में 3 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया. पुलिस मामले की विवेचना कर रही थी. विवेचना के दौरान साढ़ू की पत्‍‌नी व बेटे का नाम प्रकाश में आया. एक साल से दोनों फरार थे. इन दोनो पर पांच-पांच हजार का इनाम घोषित था. पुलिस ने गुरुवार को मां बेटे को अरैस्ट कर जेल भेज दिया. पुलिस के मुताबिक चालक मनोज पूर्व में जेल भेजा जा चुका है. पुलिस के मुताबिक मां का नाम पूनम पत्‍‌नी तालेवर व बेटे का नाम दीपक पुत्र तालेवर निवासी डिफेंस कॉलोनी थाना सदर बताया गया है.