दोस्‍त अगर दुश्‍मन बन जाए तो
अगर मुकाबला तो दोस्‍तों के बीच और वो दोस्‍त सुपर हीरो भी हों तो फिर अंत भले ही खुशनुमा अहसास के साथ हो पर वो काफी नुकसान पहुंचा देता है। ना सिर्फ उन दोस्‍तों को बल्‍कि उनसे जुड़े लोगों को भी, और यही बताती है फिल्‍म 'कैप्टन अमेरिका: सिविल वार' की कहानी। जिसमें दो दोस्‍त टोनी स्‍टार्क उर्फ आयरन मैन और स्टीव रोजर्स उर्फ कैप्‍टन अमेरिका जिन्‍होंने एवेंजर्स में एक दूसरे के साथ बड़ी मुसीबत से पार पाया था अब आमने सामने आ गए हैं क्‍योंकि आर्दश और प्रैक्‍टिकल सोच एक दूसरे के खिलाफ भी चले जाते हैं। फिल्‍म में क्रिस इवांस, रॉबर्ट डॉनी जूनियर, स्कार्लेट जोहानसन, सेबेस्टियन स्टेन, एंथनी मैकी, पॉल बेट्टनी, टॉम हॉलैंड और जेरेमी रेनर ने मुख्‍य भूमिकायें निभाई हैं।

सोच के अलग होने का द्वंद है फिल्‍म की कहानी
एवेंजर्स: ऐज ऑफ़ अल्ट्रॉन की घटनाओं के लगभग एक साल बाद, स्टीव रोजर्स, नताशा रोमनऑफ़, सैम विल्सन, और वांडा मैक्सिमॉफ़ लागोस, नाइजीरिया में एक प्रयोगशाला से एक जैविक हथियार चोरी से ब्रॉक रमलो को रोकते हैं पर लड़ाई के दौरान, वांडा अनजाने में एक इमारत पर बमबारी करवा देती है जिसमें रमलो और वकांडा के राहत सहायता कार्यकर्ताओं की मौत हो जाती है और एवेंजर्स के काम पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का अविश्वास बढ़ जाता है। एवेंजर्स मुख्यालय में राज्य के सचिव थेडियस रॉस बताते हैं कि संयुक्त राष्ट्र, सोकोविया समझौते को पास करने का प्रयास कर रही है जिससे एक अन्तर्राष्ट्रीय गवर्निंग बॉडी की स्थापना होगी जो तेजी से बढ़ रही सुपरह्यूमन की आबादी की निगरानी करेगी। इस मुद्दे पर एवेंजर्स की टीम बंट जाती है। जहां टोनी स्टार्क इसका समर्थन करता है क्योंकि वह अल्ट्रॉन बनाने के लिए खुद को जिम्मेदार मानता है जो सोकोविया में विनाश लेके आया था जबकि रोजर्स ने सरकार में विश्वास खो दिया है क्योंकि हाइड्रा ने इसकी स्थापना से ही शील्ड (S.H.I.E.L.D) को कमजोर किया है।

बन गयी दो टीमें
रोजर्स, विल्सन, बार्न्स, और टी'छल्ला को लेकर अपनी टीम तैयार करता है जबकि टोनी स्टार्क रोमनऑफ़, टी'छल्ला, जेम्स रोड्स, विजन और पीटर पार्कर यानि स्‍पाइडर मैन को इकट्ठा करता है स्टार्क को पता चलता है कि बार्न्स को फंसाया गया था तो वह चुपके से साइबेरियाई हाइड्रा की फैसिलिटी तक रोजर्स और बार्न्स का पीछा करता है इस बात से अनजान की टी'छल्ला भी उसका पीछा कर रहा है। उन्‍हें पता चलताहै कि ज़ेमो अपने परिवार की मौत के लिए एवेंजर्स को दंडित करना चाहता है। ज़ेमो एक फुटेज दिखाता है और बताता है कि 1991 में, बार्न्स ने स्टार्क के माता-पिता, हावर्ड और मारिया स्टार्क को मारा था। स्टार्क ये जान कर और नाराज हो जाता है कि रोजर्स को इस बारे में पता था, वह बार्न्स पर हमला करता है और इस वजह से रॉजर्स को उससे लड़ना पड़ता है। इस लड़ाई में बार्न्स अपनी रोबॉटिक आर्म खो देता है और रोजर्स, स्टार्क के कवच को बेकार कर देता है। उध्‍र ज़ेमो आत्महत्या का प्रयास करता है, लेकिन टी'छल्ला, उसे जिंदा पकड़ लेता है। इसके बाद हालात काबू में आते हैं पर तब तक बहुत नुकसान हो चुका होता है।

inextlive from Hollywood News Desk

Hollywood News inextlive from Hollywood News Desk