जबर्दस्‍त फैमिली ड्रामा
कपूर एंड संस फिल्‍म में एक जबर्दस्‍त फैमिली ड्रामा देखने को मिला है। राहुल (फवाद खान) और अर्जुन (सिद्धार्थ मल्होत्रा) दो दूर रहने वाले भाई हैं। अर्जुन राहुल का बड़ा भाई है। इन दोनों को अपने दादाजी (ऋषि कपूर) को हार्टअटैक पड़ने से बचपन वाले घर लौटना पड़ता है। यहां पर पूरा परिवार एक छत के नीचे रहता है। इस दौरान राहुल और अर्जुन का सामाना राज, गलतफहमियां, मजाक, अव्यवस्था, दु:ख, पछतावा जैसी चीजों से होता है। वहीं इस बीच आलिया फवाद और सिद्धार्थ की एक शॉकिंग देखने को मिलती है।  

अच्‍छे से पेश किया
फिल्‍म के निर्माता हीरू यश जौहर, करण जौहर, अपूर्वा मेहता ने भी फिल्‍म को जरा लीक से हटकर बनाने की कोशश की है। यह आज के दौर में अनगिनत फैमिलीज के हालात हैं। फिल्‍म में दो भाईयों के बीच की हकीकत को बड़े ही अच्‍छे ढंग से पेश किया है। यह एक बड़ी उपलब्‍धि है। दोनों भाईयों के बिहेवियर पर फिल्‍म की मुख्‍य कहानी टिकी दिखती है। इसके अलावा निर्देशक शकुन बत्रा ने 90 साल के अमरजीत कपूर के कैरेक्‍टर को काफी अच्‍छे से पेश किया है। यह फिल्‍म में उम्र के हिसाब से ज्‍यादा एनर्जिटिक दिखें हैं। वहीं फिल्‍म में दोनों भाईयों की मां को काफी अनहैप्‍पी दिखी हैं।

'Kapoor & Sons'

U/A; Romance-drama
Director: Shakun Batra
Cast: Alia Bhatt, Sidharth Malhotra, Fawad Khan, Rishi Kapoor, Rajat Kapoor, Ratna Pathak Shah
movie review: इन 5 कारणों से देख सकते फैमिली ड्रामे से भरपूर फिल्‍म कपूर एंड संस



आर्थिक संघर्ष भी साफ

अर्जुन और राहुल की मां व पिता के रिश्‍ते में एक हकीकत नहीं दिखी। दोनों के रिश्‍ते में एक बड़ी कड़वाहट और कल्‍पनाओं के बीच गहरी खाई दिखी है। इसके साथ ही उनका आर्थिक संघर्ष भी साफ दिखा। ऐसे में इतना कुछ होने के बाद भी अर्जुन लेखक के रूप में अनेक संघर्ष करता है और सफल होता है। वहीं अर्जुन अपनी फैमिली उन तमाम सच्‍चाई के तले दबा है। उसे नहीं पता है कि उसकी फैमिली के साथ उनका खुलासा कैसे होगा। यह इन्‍हीं उतार चढ़ाव और मुद्दों के साथ डूबा रहता है और एक बेहतर लड़का बनने की कोशिश करता है।

डॉयलॉग भी काफी अच्‍छे

पाकिस्‍तानी अभिनेता फवाद खान अपने कैरेक्‍टर के हिसाब से बिल्‍कुल परफेक्‍ट दिखे और काफी अच्‍छा रोल प्‍ले किया। ऑनस्‍क्रीन उनका रोल काफी प्रभावशाली दिखा। अभिनेता रिशी कपूर के अभिनय की जितनी तारीफ की जाए कम है। उनका मेकअप काफी जबर्दस्‍त हुआ। उनके मेकअप से फिल्‍म की कॉस्‍टिंग काफी अच्‍छी होने का प्रमाण मिलता है। फिल्‍म के डॉयलॉग भी काफी अच्‍छे लिखे गए हैं। कल्‍पनाओं के आधार पर एक बडी़ कहानी बनी है। फिल्‍म में रत्‍ना पाठक शाह और रजत कपूर की फाइटिंग काफी मजेदार है।

एक बेहतर रोल प्‍ले किया
वहीं फिल्‍म में आलिया भट्ट ने तो अपने अभिनय से और ज्‍यादा जान डाल दी है। उनकी इमोशनल एक्‍टिंग काफी तारीफ वाली है। माता पिता की डेथ पर बात करते हुए आलिया ने एक बेहतर रोल प्‍ले किया। वहीं अभिनेता सिद्धार्थ कुछ जगहों पर थोड़े भ्रमित और भटके हुए दिखें हैं। हालांकि यह भी दूसरे फिट लटके दिखें हैं। इस फिल्‍म में अमाल मलिक, बादशाह, फा‍जि़लपुरिया, आर्को, बेनी दयाल, तनिष्क बागची ने संगीत दिया है। वहीं फिल्‍म की सिनेग्राफी आदि भी काफी एवरेज में हुई है। इसके अलावा करन जौहर के डबल इश्‍यू और ट्रिपल एंगल भी दिखा है।

inextlive from Bollywood News Desk

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk