इस वजह से पापा धोनी से डरती थी जीवा
मुंबई (पीटीआई)। भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी मानते हैं कि बेटी जीवा के आने के बाद वह पूरी तरह से बदल गए हैं। मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान धोनी ने अपनी और बेटी जीवा से जुड़ी कुछ पुरानी यादें शेयर की। धोनी ने कहा, 'मुझे नहीं पता बतौर क्रिकेटर मुझमें कितना चेंज आया है। मगर एक इंसान के रूप में मैं काफी बदल गया, क्योंकि बेटियां अपने पिता के ज्यादा करीब होती हैं। मेरे केस में एक समस्या थी कि जब जीवा पैदा हुई तब मैं उसके पास (तीन साल पहले) नहीं था। मैं अक्सर क्रिकेट खेलने में व्यस्त रहता था। ऐसे में जीवा को मेरे साथ सामंजस्य बिठाने में थोड़ी परेशानी हुई।' 37 साल के धोनी ने आगे यह भी बताया कि जीवा उनके नाम से डरा करती थी। अक्सर उससे (बेटी) से कहा जाता था कि खाना खा लो नहीं तो पापा आ जाएंगे। ऐसा मत करो नहीं तो पापा आ जाएंगे। इस वजह से वह मेरे पास आने से डरती थी।
जीवा ने बदल दिया धोनी को,कभी पापा का नाम सुनकर डरती थी
धोनी से पहले उठ जाती उनकी बेटी

आईपीएल 11 में चेन्नई को फाइनल जितवाने वाले कप्तान एमएस धोनी कहते हैं, 'पूरे आईपीएल के दौरान जीवा स्टेडियम में मौजूद रही। जीवा की इच्छा थी कि वो भी मैदान पर जाए क्योंकि वो उसके लिए एक लॉन था। हालांकि मैनें उसकी ये इच्छा भी फाइनल मैच के बाद पूरी कर दी। जब वह मैदान पर आई तो काफी खुशी हुई। धोनी आगे कहते हैं कि, 'मुझे दोपहर में 2:30 या 3 बजे उठने की आदत थी। मगर जीवा 9 बजे तक उठ जाती है। वह अपना ब्रेकफॉस्ट करती है, फिर खेलने लगती है। उसे खेलते देख काफी सुकुन मिलता है, यह वो खुशी है जिसे बयां नहीं किया जा सकता।' जीवा को क्रिकेट की कितनी समझ है इस पर धोनी ने कहा, 'मुझे नहीं पता वह क्रिकेट को कैसे देखती है और कितना समझती है। मगर मैं एक दिन उसे मैच के बाद पुरस्कार समारोह में जरूर ले जाऊंगा और वह सभी सवालों का जवाब देगी।

आइए घूमते हैं धोनी के 7 एकड़ वाले फाॅर्महाउस के अंदर, साक्षी के इस वीडियो में दिखा सब कुछ

धोनी दिन में खेलते मैच रात में करते सेवा, पापा से यूं काम करवाती है बेटी जीवा

Cricket News inextlive from Cricket News Desk