बैठक में बंगला बचाने का उपाय तलाशे जाने की चर्चा
lucknow@inext.co.in  
लखनऊ।
पूर्व मुख्यमंत्रियों को अपना बंगला खाली करने का सुप्रीम कोर्ट का आदेश उनके गले की फांस बन गया है। शायद यही वजह है कि बुधवार को दोपहर करीब एक बजे पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के संरक्षक मुलायम सिह यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर अपना और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का बंगला बचाने की गुहार लगाई है। फिलहाल इस बैठक को लेकर कोई अधिकृत जानकारी नहीं दी गयी है पर पांच, कालिदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास पर दोनों नेताओं के बीच हुई बैठक में बंगला बचाने का उपाय तलाशे जाने की चर्चा है।  

मुलायम के भाजपा नेताओं के साथ काफी अच्छे रिश्ते रहे
सूत्रों की मानें तो मुलायम ने योगी से कहा कि विक्रमादित्य मार्ग स्थित बंगला नंबर चार और पांच सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद खाली किया जाना है। उन्होंने सुझाव दिया कि विधानभवन में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी तथा विधान परिषद में नेता विरोधी दल अहमद हसन के नाम आवंटित कर दिए जाएं। इससे सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का पालन भी हो जाएगा और मुलायम और अखिलेश को तुरंत बंगला खाली करने की नौबत नहीं आएगी। चर्चा है कि मुलायम सिंह यादव ने योगी से यह मुलाकात अखिलेश यादव के कहने पर की है क्योंकि मुलायम के भाजपा नेताओं के साथ अच्छे रिश्ते रहे हैं।

मोदी भी मुलायम के पारिवारिक समारोह में शामिल हो चुके
वहीं योगी के शपथ ग्रहण समारोह में मुलायम और अखिलेश भी शामिल हुए थे। इससे पहले मोदी के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के दौरान मुलायम को पीछे की पंक्ति में जगह दी गयी थी जिसे देख अमित शाह ने उनका हाथ पकड़कर उठाया और आगे की पंक्ति पर लाकर बैठाया था। मुलायम कई बार पीएम मोदी की सार्वजनिक मंच से तारीफ भी कर चुके हैं जबकि मोदी भी मुलायम के पारिवारिक समारोह में शामिल हो चुके हैं।

फ‍िर कर्नाटक के CM बने येदियुरप्पा: कभी छोड़ द‍िया था बीजेपी का दामन, जानें अब तक का सफर

कर्नाटक का नाटक : आधी रात को दूसरी बार खुला सु्प्रीम कोर्ट, येदियुरप्‍पा बनें सीएम लेकि‍न पेश करें ल‍िस्‍ट

National News inextlive from India News Desk