lucknow@inext.co.in

LUCKNOW:

सरकारी बंगला छोड़ने के बाद अंसल टाउनशिप में रहने गए समाजवादी पार्टी के संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव फिर विक्रमादित्य मार्ग पर लौटेंगे. अंसल टाउनशिप के नए आवास में मुलायम खुद को सहज नहीं महसूस कर रहे थे. इसीलिए उनके लिए विक्रमादित्य मार्ग पर ही नए घर की खोज की गई है. पार्टी सूत्रों के अनुसार सपा कार्यालय के सामने ही एक बंगला फाइनल भी हो गया है. फिलहाल इसे किराये पर लिये जाने की बात कही जा रही है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर छोड़ा बंगला

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुलायम सिंह को अपना सरकारी आवास पांच विक्रमादित्य मार्ग छोड़ना पड़ा था, जिसमें वह लगभग 28 साल तक रहे थे. गत 15 जून को वह अंसल टाउनशिप एपीआई में सेक्टर सी तीन के विला नंबर 12-ए में रहने चले गए थे. हमेशा कार्यकर्ताओं के बीच रहने वाले मुलायम को विक्रमादित्य मार्ग से इतनी दूरी रास नहीं आ रही थी. उनकी इच्छा पर विक्रमादित्य मार्ग पर ही उनके लिए नए आवास का खोज शुरू हुई और सपा कार्यालय के सामने ही एक व्यवसायी का घर फाइनल हुआ. लगभग 79 साल के हो चुके बुजुर्ग समाजवादी नेता को यह घर रास भी आया, क्योंकि इससे कार्यकर्ता आसानी से उनके पास पहुंच सकते हैं. नजदीक ही उनके भाई और पूर्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव का आवास भी है. मुलायम ने शुक्रवार को उक्त आवास का निरीक्षण भी किया.

अखिलेश भी बनवा रहे मकान

मुलायम के अलावा उनके बेटे अखिलेश भी विक्रमादित्य मार्ग पर ही रहेंगे. उन्होंने भूखंड संख्या 1-ए विक्रमादित्य मार्ग पर 'हिबस्कस हेरिटेज' नाम से होटल निर्माण के लिए एलडीए में मानचित्र आवेदन दे रखा है. हालांकि उनके नजदीकी सूत्रों का कहना है कि अखिलेश इसका उपयोग आवासीय रूप में ही करेंगे और बनने के बाद पत्नी-बच्चों के साथ रहने आ जाएंगे.