वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका के साथ शांति प्रयासों का नेतृत्व करने वाले बड़े तालिबानी नेता मुल्ला बरदार को पाकिस्तान ने ट्रंप प्रशासन के कहने पर रिहा कर दिया है। अफगानिस्तान में मौजूद अमेरिकी राजदूत जल्मय खलीलजाद ने इस बात की पुष्टि की। जल्माय खलीलजाद ने मीडिया से कहा, 'तालिबान के साथ सुलह प्रक्रिया में पाकिस्तान की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है, अभी तक उसने इस मामले में कोई खास काम नहीं किया था लेकिन हाल के दिनों में पाकिस्तान के रवैये में एक सकारात्मक बदलाव देखा गया है, उसने मेरे अनुरोध को स्वीकार कर ट्रंप प्रशासन के साथ अफगानिस्तान में शांति के लिए काम कर रहे मुल्ला बरादर को रिहा कर दिया, जो बहुत ही नेक कदम है।'

पाकिस्तान को अभी और काम करने की जरुरत
खलीलजाद ने कहा कि अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई और उनके उत्तराधिकारी राष्ट्रपति अशरफ गनी का मानना है कि बरदार शांति प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं और उन्होंने तालिबान और अमेरिका के बीच बातचीत को सुविधाजनक बनाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा कि दूसरे देशों की तरह हम पाकिस्तान को भी पसंद करेंगे लेकिन हमारे राष्ट्रपति और विदेश मंत्री का कहना है पाकिस्तान को आतंकवाद पर अभी और काम करना बाकी है, तभी वे पाकिस्तान के साथ बेहतर संबंध रख पाएंगे। उन्होंने कहा कि तालिबान के साथ हमारी ज्यादातर बैठकें पाकिस्तान में नहीं हुई हैं। यह अन्य देशों में हुई है। मुझे लगता है कि अफगानिस्तान में शांति ही पाकिस्तान के साथ हमारे संबंधों को बढ़ाने में मदद करेगा।

International News inextlive from World News Desk