भैया सुनकर भड़का हिस्ट्रीशीटर

मुंबई। हाल ही में सादी वर्दी में जा रहे एक पुलिस वाले ने अनजाने में एक हिस्ट्रीशीटर अपराधी को भैया बोल दिया इस बात पर उस हिस्ट्रीशीटर को न जाने क्यों इतना गुस्सा आ गया कि उसने अपने तीन साथियों के साथ इस पुलिसमैन पर जोरदार हमला कर दिया। मुंबई पुलिस के सूत्रों के मुताबिक कस्तूरबा मार्ग पुलिस स्टेशन का एक कांस्टेबल भाऊसाहेब करांदे (45 वर्ष) रविवार शाम को घर से काम के लिए जा रहा था। संजय गांधी पार्क के पास पानी की बोतल लेने के लिए जैसे ही वो एक दुकान पर रुका। तभी अनिल 'गुड्डू' दुबे नाम का एक हिस्ट्रीशीटर भी दुकान के भीतर जाने लगा और अचानक उसका पैर पुलिस कांस्टेबल के पैर के ऊपर पड़ गया। इस बात पर पुलिसमैन ने गुड्डू से कहा कि भैया जरा देख कर पैर रखो। उसका बस यह कहना ही उसे भारी पड़ गया। करांदे की यह बात सुनकर गुड्डू एकदम से आपा खो बैठा और उससे कहने लगा कि मुझे भैया कहने की तुम्‍हारी हिम्मत कैसे हुई और करांदे को जोर-जोर से धमकियां देने लगा।

साथियों संग मिलकर पुलिस सिपाही को जमकर पीटा

इसके बाद हिस्ट्रीशीटर गुड्डू ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर पुलिस कांस्टेबल करांदे की पिटाई शुरू कर दी। जब तक आसपास के लोग उसे बचाते करांदे काफी घायल हो चुके थे। घटना के बाद घायल अवस्था में ही करांदे को पुलिस वैन में नजदीक के शताब्दी हॉस्पिटल पहुंचाया गया। जहां उसके सिर में 16 टांके लगाए गए हैं। फिलहाल अब उनकी स्थिति सामान्य बनी हुई है।


हिस्ट्रीशीटर हुआ फरार
, एक आरोपी धर दबोचा

इस घटना को लेकर पुलिस ने गुड्डू और उसके दो साथियों के ऊपर कस्तूरबा मार्ग पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 326 और 34 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। गुड्डू के दोनों साथी घटना के वक्‍त उसके साथ कार में सवार थे। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया है पूछताछ में उस आरोपी ने बताया कि करांदे को मारने का गुड्डू का कोई भी इरादा नहीं था लेकिन सादी वर्दी में होने के कारण उन लोगों ने उसे पहचाना नहीं और यह मारपीट कर दी। फिलहाल फरार चल रहे गुड्डू समेत दूसरे आरोपी को खोजने का प्रयास किया जा रहा है।


गुड्डू का रहा है पुराना बैड रिकॉर्ड

गुंडागर्दी के मामले में हिस्ट्रीशीटर गुड्डू का रिकॉर्ड काफी पुराना है कई संज्ञेय और असंज्ञेय आपराधिक मामलों में वह आरोपी रह चुका है। लूट और अवैध वसूली जैसे कई केसेस में उसका नाम आने के बाद मुंबई पुलिस ने उसे 2 साल के लिए तड़ीपार कर दिया था। पिछले महीने ही उसका निर्वासन खत्‍म हुआ है और अब वो अपने पुराने इलाके में वापस लौट आया है।

मथुरा में ये दो लड़कियां करना चाहती हैं शादी, लेकिन पुलिस भी नहीं कर पा रही उनकी मदद?

Crime News inextlive from Crime News Desk