CHAIBASA: कटहल तोड़ने को लेकर हुए विवाद के बाद सौतेले बेटों ने मिलकर कर डाली थी मां और उसके तीन साल के बेटे की हत्या. गुवा पुलिस ने गंगदा गांव में हुए मां-बेटे के हत्याकांड की गुत्थी सुलझा ली है. पुलिस ने कारो नदी को पार कर दोनों के शवों को भी बरामद कर लिया है. शनिवार को शवों को लेकर गुवा पहुंची पुलिस ने मामले में कृष्णा चकिया और रंडवा चाकिया के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. गुवा थाना प्रभारी संजय कुमार ने बताया कि इस हत्याकांड को कृष्णा और रंडवा ने मिलकर अंजाम दिया. दोनों सगे भाई हैं. दोनों कानू की पहली पत्नी के बेटे हैं. 30 वर्षीय राधिका कानू की दूसरी पत्नी थी. कृष्णा के कटहल के पेड़ से आए दिन पके कटहल चोरी हो रहे थे. उसे शक हुआ कि राधिका ही चुपचाप कटहल तोड़ लेती है. इस वजह से इन लोगों के बीच विवाद हुआ था. 6 सितंबर को घटना के दिन राधिका अपने तीन साल के बेटे को कमर में बांधकर गांव से ही कुछ दूरी पर जंगल में पत्ते चुनने गई थी. मौका देखकर कृष्णा और रंडवा ने सौतेली मां राधिका पर डंडे से प्रहार कर दिया और तब तक मारा जब तक उसने दम नहीं तोड़ दिया. इसके बाद तीन साल के बेटे की भी गला दबाकर हत्या कर दी. हत्या करने के बाद दोनों शवों को कारो नदी पार कर लटुवा जंगल में दफना दिया था. इस हत्याकांड में कानू और उसकी पहली पत्नी का कोई हाथ नहीं है. हत्यारोपियों को गिरफ्तार करने में पुलिस लगी हुई है. जल्द ही आरोपी पुलिस हिरासत में होंगे.