-मामूली बात पर छोटे भाई से हुआ विवाद, इलाज न कराना पड़ा भारी

-फरीदपुर में संदिग्ध हालात में मौत, एक्सीडेंट के बाद हत्या का आरोप

bareilly@inext.co.in
BAREILLY : बुजुर्गो की भी सहन शक्ति अब जवाब दे रही है. जिस उम्र में उन्हें परिवार को साथ लेकर चलना चाहिए, लेकिन उसकी उम्र में भाई की जान के दुश्मन बन गए. आंवला में कुछ इसी तरह का मामला सामने आया है. जहां 70 वर्षीय बुजुर्ग ने अपने 60 वर्षीय छोटे भाई की हत्या कर दी. दोनों के बीच मामूली बात पर झगड़ा हुआ था. वहीं फरीदपुर में एक्सीडेंट में एक शख्स की मौत के बाद परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है. पुलिस दोनों मामलों की जांच कर रही है.

1----------------------

चोट लगने वाली जगह फिर से चोट

आंवला थाना के देवकोला में 60 वर्षीय छोटेलाल रहता था. उसका 4 नवंबर को बड़े भाई मैकूलाल से झगड़ा हो गया था. मैकूलाल को कोई बात बुरी लग गई तो उसने लाठी उठाकर छोटेलाल के सिर में मार दी, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. छोटेलाल ने पास के ही किसी डॉक्टर से पट्टी करवायी. उसने एक्सरे भी करवाया था लेकिन हेड इंजरी होने के बावजूद भी अच्छे डॉक्टर से इलाज नहीं करवाया. दिवाली के दिन मैकूलाल डॉक्टर से दवाई लेकर घर पहुंचा था. उसी दौरान तबियत बिगड़ने से वह नीचे गिर गया. नीचे गिरने से उसके दोबारा वहीं सिर पर चोट लग गई, जहां लाठी लगने से चोट लगी थी. उसे हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन उसकी जान चली गई. पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया है.

2--------------------

हादसा या फिर ले ली जान

फरीदपुर के सितारगंज नई बस्ती में सूरजपाल पुत्र अंगनेलाल की संदिग्ध हालात में मौत हो गई. उसके पिता ने ससुराल वालों पर रुपयों के लिए हत्या का आरोप लगाया है. वहीं पुलिस रोड एक्सीडेंट में जान जाना बता रही है. इस मामले में पहले एक्सीडेंट का ही केस परिजनों ने दर्ज कराया था. सूरजपाल, फरीदपुर के सारीपुर का रहने वाला था. उसके परिवार में पत्‍‌नी शीतल और ढाई महीने का बेटा है. पिता के मुताबिक वह वाराणसी में पानी की टंकी पर ठेकेदारी का काम करता था. वह दिवाली पर घर आया था लेकिन सीधे ससुराल चला गया था. उसके पास 60 हजार रुपए भी थे. आरोप है कि उसकी सिर में भारी वस्तु मारकर हत्या की गई है. हत्या रुपयों के लिए की गई है.

Crime News inextlive from Crime News Desk