-केलाबाग में फ्राइडे को हुई थी वारदात, जलाये जाने की बात आई थी सामने

- बेटे पर गहराया शक, कॉल डिटेल के इंतजार में पुलिस

BAREILLY: किला थाना के केलाबाग में 55 वर्षीय शारदा की हत्या गला दबाकर गई थी. शारदा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है. शारदा के सिर और हाथ में चोट के निशान हैं और धड़ आधा जला हुआ है. जिससे साफ है कि हत्या करने के दौरान शारदा ने विरोध किया होगा. हत्या में पुलिस का शक बेटे पर गहराता जा रहा है. पुलिस ने बेटे की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस कॉल डिटेल रिकार्ड का इंतजार कर रही है और जल्द ही बेटे से पूछताछ करेगी. शनिवार को एसएपसी मुनिराज जी भी वारदात स्थल पर पहुंचे और जांच-पड़ताल की.

घर के अंदर मिली थी लाश

बता दें कि शुक्रवार शाम को 55 वर्षीय शारदा की घर के अंदर लाश मिली थी. जिस जगह पर शारदा की लाश थी, उसी कमरे में उसकी 5 वर्षीय पोती भी मिली थी लेकिन उसे कुछ भी नहीं हुआ था. शारदा की हत्या पोती के सामने ही की गई होगी. हत्या के बाद शव को जलाने के लिए पहले लाश के ऊपर घर में रखे कपड़े डाले फिर रसोई में रखा रिफायंड ऑयल लेकर उसे उड़ेल दिया गया. इसके बाद रसोई में रखा गैस सिलिंडर लेकर कमरे में लाया गया और माचिस से शव और सिलिंडर को जलाया गया होगा.

बाहरी का आना अासान नहीं

शारदा के बेटे अमित की मानें तो वह शुक्रवार सुबह साढ़े 9 बजे मां और बेटी को घर पर छोड़कर काम करने गया था. जब वह शाम को पहुंचा तो मां की लाश पड़ी थी. उसने पहले पड़ोसी गुड्डू पर हत्या का आरोप लगाया था लेकिन बाद में अज्ञात में एफआईआर दर्ज कराई है. जब पुलिस ने जांच की तो पता चला कि अमित दोपहर में घर के आसपास देखा गया था. अमित के घर में कोई बाहरी आकर आसानी से नहीं जा सकता है. यही नहीं बाहरी हत्या करेगा तो फिर हत्या को दूसरा रूप देने की कोशिश क्याें करेगा.

डरी सहमी बच्ची इशारे में बोली

अमित के पिता भी चंदौसी में किसी दूसरी महिला के साथ रहते हैं. मोहल्ले वालों की मानें तो अमित का पत्‍‌नी से तलाक हो चुका है. वह रात में घर पहुंचे. वह किसी दूसरी युवती से संपर्क में था. इससे वह शादी करना चाहता था लेकिन मां इसका विरोध कर रही थी. इसके चलते ही पुलिस अब कॉल डिटेल का वेट कर रही है. पुलिस अमित के फिंगर प्रिंट लेकर भी मिलान कराएगी. मोहल्ले के लोगों ने पाकी से पूछताछ की तो लेकिन वह डरी सहमी है. वह बोलने में अक्षम है. उसने इशारे में बताया कि सिलिंडर में आग लगाने के लिए माचिस का इस्तेमाल किया गया.