Meerut: जली कोठी से गत 18 अप्रैल को रहस्यमय तरीके से गायब इमरान की उसी के दो दोस्तों ने इसलिए हत्या कर दी क्योंकि वह दोस्तों में अपना वर्चस्व कायम करना चाहते थे. यह जानकारी एसपी सिटी श्री प्रकाश द्विवेदी ने पुलिस लाइन में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान दी. देहली गेट थाने में नौ वर्षीय इमरान की गुमशुदगी दर्ज की गई थी. हालांकि दो दिन बाद उसका शव रजबन के पास एक बोरे में पड़ा मिला था.

आखिरी बार देखा था

आसपास के बच्चों ने बताया था कि इमरान को पटेल नगर निवासी उसके दोस्त के साथ आखिरी बार स्कूटी पर जाते हुए देखा था. पुलिस ने शक के आधार पर दोस्तों को दबाेच लिया.

ब्लेड से काटी गर्दन

पकड़े गए छात्रों ने बताया कि इमरान को पटेल नगर स्थित अपने भाई के फ्लैट पर ले जाकर ब्लेड से उसकी गर्दन ब्लेड से काट दी. इसके बाद उसकी लाश को बोरी में रखकर रजबन में कूड़े के ढेर पर फेंक आए थे.

फुटेज में हुए कैद

फ्लैट के आसपास लगे कैमरों में भी दोनों स्कूटी पर इमरान की लाश बोरी में रखते हुए कैद हो गए थे. इसके बाद पुलिस ने एविडेंस के आधार पर दोनों को दबोच लिया. पुलिस ने बताया कि वह इमरान की हत्या के लिए उससे चार दिन से ढूंढ रहे थे. इसके बाद वह उन्हें गत 18 अप्रैल की शाम को वह मिल गया.