मेजा में कारोबारी की हत्या को लेकर नहीं साफ हो सकी तस्वीर

परिजनों ने शक के आधार पर तीन के खिलाफ दर्ज कराई नामजद रिपोर्ट

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: मेजा थाना क्षेत्र में मंगलवार की रात दवा व्यवसायी विनोद कुमार ओझा की बम मारकर हत्या के मामले में परिजनों ने तीन लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कराया है. परिजनों की तहरीर के आधार पर पुलिस ने कृष्णचन्द्र चतुर्वेदी, रजनीश मिश्रा और मो. यूनूस के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है. परिजनों ने हत्या के पीछे दो कारण की शंका जताई है. विनोद ओझा के भाई प्रमोद कुमार ओझा ने पुलिस को बताया कि भतीजे की शादी रजनीश मिश्रा की बेटी से तय थी. किन्हीं कारणों को लेकर शादी टूट गई. इसी बीच मंगलवार को शादी तय कराने वाले पंडित कृष्ण चन्द्र चतुर्वेदी से उनकी मुलाकात हुई. बातचीत में कृष्ण चन्द्र चतुर्वेदी ने कहा कि भतीजे शुभम की शादी रजनीश मिश्रा की बेटी से तोड़कर बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं. घर में कोई बड़ी घटना हो सकती है. इसी बीच मंगलवार की रात करीब 8 बजे प्रमोद के भाई विनोद की बम मारकर हत्या कर दी गई.

पैसों को भी लेकर चल रहा था विवाद

पुलिस को बयान दर्ज कराते हुए विनोद के भाई प्रमोद ने बताया कि व्यापार को लेकर कई लोगों से पैसों की लेन देन थी. कुछ लोगों से रंजिश भी चल रही थी. लेने देन को लेकर सबसे ज्यादा रंजिश मो. यूनूस पुत्र मो. यासीन निवासी कोटहा से थी. ऐसे में इन्हीं लोगों पर हत्या करने की आशंका है. पुलिस ने भाई प्रमोद की ओर से दिए गए बयान के बाद दोनों ही एग्ल पर जांच शुरू की है.