- मस्जिद परिसर में खून से लथपथ मिला शव

- दामाद पर लगा हत्या का आरोप

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: काकोरी के महिपतमऊ गांव में मस्जिद के खादिम की मस्जिद परिसर में ही गला काटकर हत्या कर दी गई. हत्या का आरोप उसके दामाद पर लगा है. मस्जिद के इमाम ने खादिम के दामाद के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है. काकोरी पुलिस उसकी तलाश कर रही है.

दामाद से हुई थी बहस

मूलरूप से कुशीनगर के हरबुत बेलही गांव थाना पतहेरवा निवासी इम्तियाज दस साल से काकोरी क्षेत्र में महिपतमऊ गांव व अंधे की चौकी के पास किराए पर रहते थे. तीन साल से वह मस्जिद की देखरेख कर रहे थे. राजमिस्त्री इम्तियाज का कुशीनगर निवासी दामाद सलामत से विवाद चल रहा था. मंगलवार को सलामत उससे मिलने आया था. मस्जिद के हाफिज अली अहमद के मुताबिक रात साढ़े आठ बजे उन्होंने ससुर दामाद के साथ खाना खाया. इस दौरान दोनों में किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था. इसके बाद सलामत चला गया. अली अहमद भी चले गए.

नहीं आई नमाज की आवाज

हाफिज अली ने बताया कि इम्तियाज तड़के 4:40 पर फजीर की नमाज पढ़ता था. बुधवार को नमाज पढ़ने की आवाज नहीं आई. लोगों ने इसका ध्यान नहीं दिया. पुलिस के मुताबिक सबके जाने के बाद सलामत दोबारा मस्जिद पहुंचा, उसी पर हत्या का आरोप है.

धारदार हथियार से काटी गर्दन

मस्जिद परिसर में इम्तियाज का खून से लथपथ शव पड़ा था. उनकी धारदार हथियार से गला काटकर हत्या की गई थी. मौके से उनका दामाद सलामत गायब था. कुछ ही देर में मस्जिद में हत्या की खबर आग की तरह फैली. सूचना मिलते ही मौके पर सीओ मलिहाबाद और काकोरी पुलिस भी पहुंच गई. पुलिस ने छानबीन के लिए फारेंसिक टीम को बुलाया. छानबीन के बाद इम्तियाज के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया.

इमाम ने दर्ज कराई एफआईआर

इस मामले में मस्जिद के इमाम अली अहमद ने सलामत के खिलाफ काकोरी थाने में हत्या की रिपोर्ट भी दर्ज कराई है. काकोरी पुलिस सलामत की तलाश में जुट गयी है.

डरा था इम्तियाज

दामाद सलामत के आने के बाद से इम्तियाज काफी डरा था. इस बात की पुष्टि मस्जिद के बगल में में रहने वालों ने की. लोगों का कहना है कि मंगलवार शाम इम्तियाज ने उन लोगों से इस बात का जिक्र किया था कि वह रात को मस्जिद में न लेट कर घर में सोएगा.