25 हजार का इनाम घोषित था, 29 अप्रैल को सीमैक कॉलोनी में अंजाम दी थी घटना

allahabad@inext.co.in

बीती और छह माह की बेटी का हत्यारा रणजीत यादव यादव साइको है. अपर आयुक्त कार्यालय के बाबू के रूप में उसकी तैनाती थी. घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस का जिन तथ्यों से सामना हुआ था, वह साफ-साफ इशारा कर रहे थे कि वह साइको है. उसने पत्‍‌नी और बेटी दोनों को कनपटी से सटाकर गोली मारी थी और फिर पूरी रात उनकी बॉडी के साथ उसी घर में बितायी थी.

सामान्य दिखानी की कोशिश की थी

29 अप्रैल को हुई घटना का खुलासा दूसरे दिन हुआ था. रात में घटना को अंजाम देकर भी रणजीत घटनाक्रम से अंजान बना रहा. सीमैक कॉलोनी में रहने वाले लोगों ने तब बताया था कि हत्या के दूसरे दिन वह घर से निकला और दूध-ब्रेड लेकर गया था. यानी वह नहीं चाहता था कि उसके रहते किसी को घटना का पता चले. घटना की जानकारी होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस के सामने भी चौंकाने वाले तथ्य थे. घर में मृतका और उसकी बेटी के तो कपड़े मौजूद थे लेकिन रणजीत का एक लोअर को छोड़कर कुछ भी नहीं था. माना जा रहा था कि उसने योजनाबद्ध तरीके से घटना अंजाम दी और अपनी राइफल समेत अन्य सामान यहां से हटा दिया.

दो पत्नी की हो चुकी संदिग्ध मौत

29 अप्रैल को रणजीत ने अपनी तीसरी पत्‍‌नी पूनम की हत्या की थी. बताया जाता है कि इसके पहले उसकी दो पत्‍ि‌नयों की संदिग्ध हालात में मौत हो चुकी थी. एक मामले में रिपोर्ट भी दर्ज करायी गयी थी लेकिन वह बच निकला था. दूसरे मामले में कोई एफआईआर भी दर्ज नहीं की गयी थी. पूनम के भाई ने कर्नलगंज थाने में बहन और भांजी की हत्या की रिपोर्ट दर्ज करायी थी. पुलिस उसे तभी से तलाश रही थी लेकिन वह पकड़ से दूर रहा. घटनाओं की समीक्षा के दौरान वर्तमान एसएसपी नितिन तिवारी के समक्ष यह फैक्ट आया तो उन्होंने उस पर इनाम राशि बढ़ाकर 25 हजार करने की संस्तुति भेजी. इसे मंजूर कर लिया गया था.

लखनऊ में नाका से हुई गिरफ्तारी, राइफल बरामद

LUCKNOW (15 Sept): इलाहाबाद में अप्रैल माह में पत्‍‌नी और छह माह के मासूम की हत्या करके फरार चल रहे आरोपी को नाका पुलिस ने गिरफ्तार किया और हत्या में यूज की गई लाइसेंसी राइफल बरामद कर दी. आरोपी पर 25 हजार का इनाम घोषित था. एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि इलाहाबाद के कर्नलगंज सीमैक कॉलोनी निवासी रणजीत सिंह यादव ने 29 अप्रैल को अपनी पत्नी और छह माह के बच्चे की लाइसेंसी राइफल से गोली मार हत्या कर दी थी. इसके बाद आरोपी फरार हो गया था.

पुलिस ने बताया कि शनिवार को मुखबिर की सूचना पर नाका पुलिस ने उसे गुप्ता चौराहे के पास से गिरफ्तार किया. आरोपी ने पत्‍‌नी और बच्चे की हत्या करना स्वीकारा है. उसने घटना को अंजाम देने के बाद अपनी राइफल एक मई को लाटूश रोड स्थित एक गन हाउस में जमा कर दी थी.