नेपीताव (आईएएनएस)। म्यांमार नेशनल एयरलाइंस का एक विमान रविवार को मांडले अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पीछे के पहियों के जरिए आपात स्थिति में लैंड हुआ। अधिकारियों के मुताबिक, प्लेन को पीछे के पहियों के जरिए इसलिए उतारा गया क्योंकि उसका अगला लैंडिंग गियर काम नहीं कर रहा था। इस विमान में 89 लोग सवार थे। एम्ब्रेयर 190 विमान हवाई अड्डे के रनवे पर फिसल गया। पायलट ने नोज के सहारे किसी तरह से विमान की लैंडिंग कराई। हालांकि, इससे किसी भी यात्रियों को नुकसान नहीं पहुंचा है लेकिन यह जरूर कह सकते हैं कि एक बड़ा हादसा टल गया है।

पायलट ने दो बार कराई हवाई अड्डे की परिक्रमा

बीबीसी ने एयरलाइन के हवाले से बताया कि कैप्टन मैयत मो आंग ने हवाई यातायात नियंत्रकों के लिए प्लेन की दो बार हवाई अड्डे की परिक्रमा कराई ताकि उन्हें पता चल सके कि लैंडिंग गियर नीचे है या नहीं। विमान यांगून से रवाना हुआ था और मांडले तक पहुंचा था लेकिन इसी बीच उसका फ्रंट लैंडिंग गियर खराब हो गया, इसके बाद पायलट ने आपातकालीन प्रक्रियाओं का पालन किया और विमान के वजन को कम करने के लिए अतिरिक्त फ्यूल को खर्च किया और मांडले अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से संपर्क कर किसी तरह से प्लेन की सुरक्षित रूप से लैंडिंग कराई। लैंडिंग का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर जारी किया गया है, उसमें साफ तौर पर देखा जा सकता है कि प्लेन को पीछे के पहिए के जरिये किस तरह से उतारा जा रहा है। विमान रुकने से पहले करीब 25 सेकंड तक फिसलता रहा।

एक सफ्ताह में यह दूसरी घटना
म्यांमार में इस सप्ताह यह दूसरा विमानन दुर्घटना थी। बुधवार को, यांगून अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर खराब मौसम के कारण उतरने पर, बिमान बांग्लादेश एयरलाइंस का एक विमान रनवे पर फिसल गया था, जिसमें 17 लोग घायल हो गए थे।

रूस में हवाई अड्डे पर उतरा जलता हुआ विमान, दो बच्चों समेत 41 लोगों की मौत

ऑपरेशन आइसोटोप : हाइजैक प्लेन से पैसेंजर्स मुक्त कराने वाले कमांडो में 2 बने इजराइली पीएम

International News inextlive from World News Desk