-एसडीएम और बाढ़ खंड अधिकारी ने किया मौके का निरीक्षण

BAREILLY :

बारिश से फ्राइडे को मीरगंज से गुजरने वाली सभी नदियों उफान पर आ गई है. नदियों में बाढ़ का खतरा बढ़ता नजर आया तो प्रशासन ने बाढ़ की 14 चौकी बनाकर सक्रिय कर दी है. वहीं शहर से सटे फतेहगंज पश्चिमी व सीबीगंज इलाके की शंखा नदी के जलस्तर में भी लगातार वृद्धि हो रही है. नदी को पार करने के लिए बना रपटा पुल पूरी तरह से डूब जाने से मीरापुर, गौतारा समेत दर्जन भर गांव का संपर्क मार्ग टूट चुका है.

तो ढह जाएगा शाही पुल

किच्छा नदी में भी जलस्तर बढ़ने से शाही पुल कटान के कारण ढहने लगा है. जानकारी होते ही एसडीएम और बाढ़ खंड अधिकारी मौके पर पहुंचे और मीरगंज तहसील क्षेत्र में स्थित रामगंगा, बहगुल, भाखड़ा, दुजोड़ा, पीलाखार, ढ़ोरा और शखा नदियों के बढे़ जलस्तर को देखा. बाढ़ के पानी से नदियों का पानी आसपास के सैकड़ों गांवों के खेतों में जा घुसा है, और फसलें जलमग्न हो गई.

14 गांव में बाढ़ चौकियां स्थापित

लगातार बारिश होने एवं नदियों के जल स्तर बढ़ते हुए को देखते हुए तहसील प्रशासन ने क्षेत्र में 14 बाढ़ चौकी बनाई हैं.प्रशासन ने गांव प्राइमरी स्कूल मिजऱ्ापुर, कपूरपुर, डेलपुर, मीरापुर, बल्लिया, शीशगढ़, ओंद्ध, वहरोली, गहवरा, जूनियर हाईस्कूल शाही, सिधौली, दुनका, कुंवर ढाकन लाल इंटर कॉलेज सहित 14 स्थानों पर बाढ़ राहत चौकी स्थापित की है . बाढ़ आने पर इन्हीं चौकियों से बचाव और राहत कार्य संचालित होंगे.