- शहर की बुनियादी सुविधाओं में इजाफा होने पर लगा 'ग्रहण'

- फिलहाल अवस्थापना और राज्य वित्त से काम शुरू

varanasi@inext.co.in

VARANASI

नगर निगम का बजट नहीं आने से तमाम विकास कार्यो पर 'ग्रहण' लग गया है. मार्च में निगम के अफसरों ने शासन को डिमांड भेजी थी, लेकिन करीब तीन महीने से धन नहीं मिल सका है. इसको देखते हुए नगर निगम ने अवस्थापना निधि और 14वां वित्त मद से सड़क निर्माण व अन्य कार्य शुरू करा दिए हैं, लेकिन इससे पूरी गति से विकास कार्य नहीं हो पा रहे हैं. अगर जल्द बजट जारी नहीं किया गया तो विकास कार्यो पर इसका असर पड़ना तय है.

शासन को भेजा गया था बजट

नगर निकाय के नियमों के मुताबिक सदन की बैठक में बजट का प्रस्ताव पास कर शासन को भेजना होता है, लेकिन 24 मार्च को सदन की बैठक में पार्षदों और महापौर के बीच हुए विवाद के बाद बवाल होने पर प्रक्रिया रुक गई थी. इसके बाद बजट शासन को संदर्भित कर दिया गया था. तब से अफसर इसकी बाट जोह रहे हैं. वहीं समय से बजट नहीं आने से पार्षदों में भी आक्रोश है.

नौ अरब का था बजट

पिछले वित्तीय वर्ष में निगम ने करीब नौ अरब रुपये का बजट प्रस्ताव शासन को भेजा था. धन उपलब्ध होने पर निगम ने शहर में बुनियादी सुविधाएं बढ़ाने, सुंदरीकरण, प्रकाश, वाहन व्यवस्था सुदृढ़ करने समेत तमाम विकास कार्य कराए. इस बार शासन को कितने का बजट प्रस्ताव भेजा गया इस पर निगम के अफसर गोपनीयता का हवाला देकर खुलकर बोलने से कतरा रहे हैं.

बजट मिलने पर होंगे ये काम

- बुनियादी सुविधाएं बढ़ाना

- सफाई प्रबंधन को बेहतर करना

- प्रकाश व्यवस्था

- वाहन व्यवस्था

- कर्मियों का वेतन भुगतान

- कार्यदायी संस्थाओं का भुगतान

- सुंदरीकरण

बजट आने में देरी होने पर विकास कायरें पर कोई खास असर नहीं पड़ रहा है. नगर निगम अवस्थापना और अन्य मदों से विकास कार्य करवा रहा है.

डॉ. नितिन बंसल, नगर आयुक्त