- नगर निगम के साधारण अधिवेशन में पक्ष व विपक्ष के पार्षदों में दिखा सामंजस्य

- सर्वसम्मति से भाजपा के छह, कांग्रेस के तीन, सपा के दो व एक निर्दलीय बने कार्यकारिणी सदस्य

>varanasi@inext.co.in

VARANASI

नगर निगम के पार्षदों ने वैचारिक मतभेद दरकिनार कर शहर के विकास का वादा दोहराया है. निगम का साधारण अधिवेशन (आम बैठक) मंगलवार को मैदागिन स्थित टाउनहाल सभागार में मंगलवार को हुआ. इस दौरान सर्वसम्मति से 12 कार्यकारिणी सदस्य चुने गए. इसमें भारतीय जनता पार्टी के सर्वाधिक छह, कांग्रेस के तीन, समाजवादी पार्टी के दो और एक निर्दलीय पार्षद शामिल हैं. मेयर मृदुला जायसवाल की अध्यक्षता में बैठक शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो गई. इस मौके पर एमएलसी चेतनारायण सिंह, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, रवीन्द्र जायसवाल, नगर आयुक्त डॉ. नितिन बंसल समेत निगम के अन्य अफसर और पार्षद उपस्थित थे.

नहीं आई मतदान की नौबत

मिनी सदन का साधारण अधिवेशन शुरू होते ही पार्षदों ने आपस में मिलजुलकर शहर का चतुर्दिक विकास करने का संकल्प लिया. अधिवेशन शुरू होने के बाद जरूरी कोरम पूरा किया गया. इसके बाद 12 कार्यकारिणी सदस्य पदों के लिए पार्षदों ने पार्टीवाइज प्रस्ताव रखा. इसका ध्वनिमत से सम्बंधित पार्टी के पार्षदों ने समर्थन किया. इसके बाद सर्वसम्मति से संख्याबल के हिसाब से कार्यकारिणी सदस्य चुने गए. सदस्यों को मिठाई खिलाकर और माल्यार्पण कर स्वागत किया गया.

दर्ज केस होंगे वापस

महापौर मृदुला जायसवाल ने कहा कि पार्षदों पर दर्ज मुकदमें वापस होंगे. मेयर ने नगर आयुक्त डॉ. नितिन बंसल को जरूरी प्रक्रियाएं पूरी कर मुकदमा वापस लेने का निर्देश दिया. दरअसल, 24 मार्च को सांस्कृतिक संकुल में हुई नगर निगम की पहली बैठक पार्षदों के हंगामे व बवाल के चलते स्थगित हो गई थी. इस दौरान तीन पार्षदों पर मुकदमा दर्ज किया गया था. इसको लेकर विपक्षी पार्षदों में आक्रोश था. उनका आरोप था कि मामले में एकपक्षीय कार्रवाई हुई है. इस सिलसिले में कुछ दिन पहले मेयर ने पार्षदों के साथ नगर निगम स्थित कार्यालय में बैठक की थी.

ये पार्षदने कार्यकारिणी सदस्य

भाजपा

राजेश यादव 'चल्लू'

पूर्णमासी गुप्ता

नरसिंह दास

सुरेश चौरसिया

वंदना ि1संह

संदीप त्रिपाठी

कांग्रेस

रमजान अली

मो. सलीम

रेशमा परवीन

सपा

प्रशांत सिंह

गोपाल यादव

निर्दलीय

अजीत सिंह