-रिकवरी मुहिम के तेज होते ही टैक्स फाइलों के गायब होने की बढ़ी आशंका

-नगर आयुक्त ने चेताया, टैक्स से जुड़ी फाइल गायब होने पर होगी एफआईआर

BAREILLY: टैक्स वसूली की मुहिम को हवा मिलते ही बड़े करदाताओं की टैक्स फाइलों का भी नगर निगम से हवा हो जाने की आशंका बढ़ गई है. कॉमर्शियल टैक्स वसूली अभियान के शुरू होते ही शहर के तमाम बड़े करदाताओं में हड़कंप मच गया है. हर साल ऐसे मौके पर निगम से बड़े करदाताओं की टैक्स फाइलें अचानक गायब हो जाने का चलन भी शुरू हो जाता है. इस बार इस चलन को रोकने के लिए नगर आयुक्त शीलधर सिंह यादव ने टैक्स विभाग को कड़े निर्देश जारी कर दिए हैं. टैक्स से जुड़ी किसी भी फाइल के खो जाने पर नगर आयुक्त ने जिम्मेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की चेतावनी दी है.

सेटिंग से गायब होती हैं फाइलें

निगम की ओर से शहर के तमाम बड़े करदाताओं से बकाए टैक्स वसूली की मुहिम शुरू हो गई है. इन करदाताओं में 1 लाख से लेकर 1 करोड़ तक के बकाएदार शामिल हैं. निगम के जानकारों का कहना है कि टैक्स वसूली में मोटी रकम देकर बकाया चुकाने के बजाए कई मौकों पर करदाताओं को सेटिंग का तरीका सुझाया जाता है. इस सांठ-गांठ में निगम के ही जिम्मेदार अपनी जेब गर्म कर मामले से जुड़ी फाइल गुम कर देते हैं. बकाए टैक्स की फाइल और दस्तावेज न मिलने पर सही टैक्स वसूली में अड़चन आती है.

नगर आयुक्त ने संभाली कमान

31 मार्च से पहले बड़े बकाएदारों से टैक्स वसूली कर निगम का खजाना भरने की जिम्मेदारी खुद नगर आयुक्त ने संभाल ली है. नगर आयुक्त ने सभी जोन के टैक्स सुपरिंटेंडेंट्स को अपने एरियाज के बड़े कॉमर्शियल करदाताओं से वसूली करने या इमारत को सील करने के सख्त निर्देश दिए हैं. साथ ही उपनगर आयुक्त से रोजाना होने वाली वसूली की कार्रवाई की रिपोर्ट तलब कर रहे. नगर आयुक्त ने टैक्स मामले में किसी भी गड़बड़ी को रोकने के लिए खासकर बाबुओं को चेताया है कि किसी भी कॉमर्शियल टैक्स की फाइल गायब होने पर सभी के खिलाफ पुलिसिया कार्रवाई होगी.

-----------------------------------

दूसरे दिन सुस्त रहा अभियान

दो कॉमर्शियल करदाताओं से 2.27 लाख रुपए की वसूली

BAREILLY: टैक्स वसूली अभियान में पहले दिन शहर के नामी होटल और सरकारी बैंक से 7.भ् लाख की रिकवरी करने वाली निगम की टीम वेडनसडे को सुस्त साबित हुई. वेडनसडे को निगम के दस्ते ने दो करदाताओं से टैक्स कॉमर्शियल वसूली में महज सवा दो लाख रुपए जमा किए. निगम की टीम सुबह 9 बजे एकता नगर स्थित एक गोदाम पहुंची. छाया अग्रवाल नाम से रजिस्टर्ड इस गोदाम पर क्.8ब् लाख रुपए का बकाया था. टीम ने यहां से क्.भ्0 लाख रुपए का चेक बकाया टैक्स के तौर पर लिया. वहीं दोपहर होते ही निगम की टीम स्वाले नगर स्थित एक पेंट डिस्ट्रिब्यूटर से फ्.80 लाख का टैक्स वसूल करने पहुंची. अधिकारियों ने बताया कि ओनर अश्वनी कुमार से बकाए टैक्स को लेकर नोंक झोंक हुई. लेकिन बाद में ओनर ने 77,887 रुपए का चेक दिया और बाकी का बकाया एक दो दिन में अदा करने की बात की.

कम वसूली पर नगर आयुक्त की फटकार

मुहिम के दूसरे दिन कम टैक्स वसूली पर नगर आयुक्त ने अपने अधिकारियों को फटकार लगाई. ट्यूजडे को नगर आयुक्त की कड़ी फटकार के बाद अधिकारियों ने 7.भ् लाख वसूले थे, लेकिन अगले दिन सिर्फ सवा ख् लाख वसूली करने पर नगर आयुक्त ने अधिकारियों को आगे की वसूली के लिए कड़े निर्देश दिए. थर्सडे को निगम का वसूली दस्ता कमल टॉकीज व अशोका फोम को सील करने की कवायद में जुटेगा. अशोक फोम पर करीब ब्भ् लाख और कमल टॉकीज पर करीब 8 लाख का बकाया टैक्स है.

-------------------

टैक्स रिकवरी में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. अधिकारियों को इस बाबत कड़े निर्देश जारी कर दिए गए हैं. कम वसूली पर अधिकारियों को फटकार लगाई है. टैक्स से जुड़ी फाइलें गायब हुई तो जिम्मेदार बाबू से लेकर अधिकारी तक के खिलाफ एफआईआर होगी. - शीलधर सिंह यादव, नगर आयुक्त