-क्योलडि़या से एक सप्ताह पहले बभिया में पुलिस पर लगा था पिटाई का आरोप

BAREILLY: वर्दी पर दाग न लगे, इसके लिए पब्लिक से मधुर व्यवहार करने के लिए कहा जाता है, लेकिन पुलिसवाले हैं, कि वर्दी का रौब जाता ही नहीं है. आए दिन पुलिस की गुंडई और पब्लिक की पिटाई के मामले सामने आ रहे हैं. पुलिस कस्टडी में पिटाई व मौत को लेकर थाने पर बवाल भी हो चुके हैं. यहां तक कि एक बार कैंट थाना ही फूंका जा चुका है. संडे को क्योलडि़या में पुलिस कस्टडी में वारंटी की पिटाई से ठीक एक सप्ताह पहले कैंट में भी पुलिस पर पिटाई का आरोप लगा था. पुलिस ने वारंटी उमेश को मंडे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया.

वारंटी की थाने में की पिटाई

बता दें कि क्योलडि़या में पुलिस कमलापुर निवासी उमेश को पकड़कर थाने ले गई थी. उमेश के खिलाफ कोर्ट से वारंट जारी था. संडे शाम को पुलिस वारंटी उमेश को पकड़कर थाने लेकर पहुंची. आरोप है कि यहां पर उमेश की एसआई अजीत सिंह ने पटे से पिटाई की, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई. जिसके बाद उसे सीएचसी में भर्ती कराया गया. जब परिजनों को सूचना मिली तो पुलिस ने मामले को दबाने की कोशिश की. हालांकि मामला गंभीर होने पर एसएसपी ने एसआई को तुरंत लाइन हाजिर कर जांच शुरू करा दी. वारंटी को मंडे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है.

जन्माष्टमी के दिन भ्ाी पिटाई

क्योलडि़या से ठीक एक सप्ताह पहले कैंट के वारीनगला में भी पुलिस पर पिटाई का आरोप लगा था. यहां पर बीजेपी कार्यकर्ता की बभिया चौकी इंचार्ज सत्यप्रकाश पर चेकिंग के नाम पर गाली-गलौज और पिटाई का आरोप लगा था. इसको लेकर चौकी पर हंगामा हुआ था. स्थानीय विधायक पप्पू भरतौल भी पहुंचे, जिसके बाद दोनों पक्षों की ओर से एफआईआर दर्ज कर मामले को शांत किया गया था.

-यह मामले भी हो चुके

-जून माह में बारादरी पुलिस पर एक युवक को गाड़ी में डालकर बंधक बनाकर घुमाने और गाली-गलौज करने का आरोप लगा था. युवक के भाई हेमंत रुद्रा शाक्या ने यूपी पुलिस से मामले में ट्वीट कर इसकी शिकायत की थी.

-जून माह में ही बारादरी की कांकरटोला चौकी में मीट कारोबारी की पुलिस कस्टडी में हालत बिगड़ने और फिर उसकी मौत का मामला सामने आया था. इस मामले में जमकर हंगामा हुआ था, जिसके बाद चौकी इंचार्ज व पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया था

-जुलाई माह में सिविल लाइंस के एक होटल में पानी की बोतल को लेकर झगड़े में पुलिस पर ही पिटाई का आरोप लगा था. आरोप था कि पुलिस ने 5 युवकों की होटल में पिटाई के बाद थाने में लाकर भी पिटाई की थी

-फरवरी माह में सुभाषनगर एरिया में एक जुआरी की दौड़ाकर पिटाई का आरोप लगा था. जुआरी की बाद में लाश मिली थी. इस मामले में जुलाई माह में तत्कालीन इंस्पेक्टर व सिपाहियों पर हत्या की एफआईआर भी दर्ज हुई है