- आबूनाला और ओडियन नाले पर लगेंगे जाल

- नालियों से आने वाले कूड़े का नही होगा प्रवाह

MEERUT । शहर के नालों को पूरी तरह साफ करने में असमर्थ मेरठ नगर निगम अब विदेशों के तर्ज पर नालों की सफाई के लिए नया एक्सपेरिमेंट करने जा रहा है। निगम अब नालियों के जरिए नालों में आने वाली गंदगी को नालों में गिरने नही देगा। इसके लिए निगम अब शहर के प्रमुख नालों में गिरने वाले छोटे नालों पर जाल लगाकर कूडे़ को नाले में गिरने से रोकेगा।

आबू व ओडियन नाले पर लगेंगे जाल

दरअसल शहर के दो बडे़ नालो की पूरी सफाई ना हो पाने के कारण हर साल बरसात के दिनो में शहर में जलभराव की स्थिति बन जाती है। नालों में भरी सिल्ट व गंदगी के कारण मोहल्लों का पानी नालों से उफन कर सड़कों पर आ जाता है। ऐसे में निगम शहर के प्रमुख ओडियन और आबू नाले में गिरने वाले तीन तीन छोटे नालों पर जाल लगाकर गंदगी को नालो में जाने से रोकेगा। इसके लिए निगम ने सत्र 2018 व 2019 के प्रस्तावों में इस योजना को शामिल किया है।

प्रस्ताव पुराना योजना अधर में

नालों पर जाल लगाकर कूड़ा व गंदगी नाले में गिरने से रोकने का यह उपाय निगम में पिछले कई सालों से केवल प्रस्तावों तक सीमित है। लेकिन निगम इस प्रस्ताव पर काम नही कर पा रहा है। ऐसा ही कुछ इस बार भी हो रहा है। निगम ने अपने इस साल की बोर्ड बैठक के प्रस्तावों में इन दो नालों में जाल लगाने योजना शामिल कर बजट तक निर्धारण कर दिया लेकिन अभी बोर्ड बैठक में इस प्रस्ताव को स्वीकृत नही किया गया है।

प्रस्ताव गत वर्ष तैयार किया गया था लेकिन बोर्ड बैठक नही हो सकी जिस कारण से अभी तक प्रस्ताव अधर में है। इस साल की बोर्ड बैठक में इस प्रस्ताव को पास कराने का प्रयास किया जाएगा।

- अमित कुमार, अपर नगरायुक्त