-आरिफ के नाम को लेकर भी हुआ कंफ्यूजन, फोटो से हुआ मिलान

BAREILLY: जयपुर की पुलिस मंडे को जाली नोट के सरगना आरिफ उर्फ नेता को पकड़ने फरीदपुर पहुंची. तो पता चला कि आरिफ नाम का युवक 30 जून को कैंट थाना से एनडीपीएस में जेल गया था. पुलिस कैंट थाना पहुंची तो खलबली मच गई. क्योंकि जाली नोट के सरगना आरिफ और एनडीपीएस में जेल गए आरिफ के फोटो का मिलान कराया गया तो दोनों में अंतर निकला. अब पुलिस असली आरिफ की तलाश में जुट गई है.

8 जून को पकड़े गए थे नकली नोट

बता दें कि 8 जून को जयपुर में फरीदपुर का शकील व दो अन्य लोग नकली दो हजार रुपए का नोट चलाते हुए पकड़े गए थे. पूछताछ में पता चला कि नोट बरेली जिले के फरीदपुर से लाए गए थे. आरिफ नाम के शख्स ने इन लोगों को नोट दिए थे. 58 हजार के नकली नोट में से ये लोग 42 हजार रुपये खपा चुके थे. इधर कैंट पुलिस ने बीती 30 जून को फरीदपुर के एक आरिफ का जेल भेजा था. जयपुर पुलिस को लगा कि जिस आरिफ का वह तलाश रही है वह जेल चला गया है.