इस्लामाबाद (रॉयटर्स)।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को इमरान खान से फोन पर बात कर उन्हें पाकिस्तान चुनाव में जीत हासिल करने पर बधाई दी है। इसके साथ ही दोनों ने क्षेत्रीय शांति पर भी चर्चा की। भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि की। बता दें कि आम चुनाव में 115 सीटें मिलने के बाद पिछले हफ्ते जब इमरान खान मीडिया से बात कर रहे थे, तब उन्होंने भारत को लेकर कहा था कि इंडिया और पाकिस्तान को संबंध ठीक करना होगा, इससे दोनों देशों का फायदा है, अगर भारत हमारी ओर एक कदम भी बढ़ाता है तो हम दो कदम बढ़ाएंगे।'

राज्य के अगले मुख्यमंत्री का निर्णय

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के अध्यक्ष इमरान खान अपने देश में 11 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। सोमवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के नवनिर्वाचित पार्टी विधायकों को संबोधित करते हुए पीटीआइ नेता ने कहा कि उन्होंने राज्य के अगले मुख्यमंत्री का निर्णय कर लिया है। अगले 48 घंटों के अंदर उनके नाम का एलान कर दिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि सिंध प्रांत की गरीबी खत्म करना उनकी सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल होगा।

बहुमत के लिए इतनी सीटों की जरूरत

नेशनल असेंबली की 267 सीटों में से 115 सीट पर इमरान खान कब्जा जमा चुके हैं। इसके बाद इस बार आम चुनाव में नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एल) 64 सीट जीतकर दूसरे और बिलावल अली भुट्टो की पाकिस्तान पीपल्स पार्टी 43 सीटों के साथ तीसरे नंबर पर है। इसके अलावा बाकी बचे नेशनल असेंबली की 13 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है। पाकिस्तान की नेशनल असेंबली के सदस्यों की संख्या 342 होती है लेकिन इनमें से सिर्फ 272 सदस्य ही सीधे मतदान के जरिए चुने जाते हैं। इसके अलावा अन्य 70 उम्मीदवारों के लिए चुनाव नहीं होता है। इन 70 सीटों में से 60 सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होती हैं और 10 सीटें पाकिस्‍तान के अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के लिए आरक्षित होती हैं। इनका चुनाव आनुपातिक प्रतिनिधित्व नियम के तहत होता है। किसी भी एक पार्टी को बहुमत के लिए 137 सीटों की जरूरत होती है तभी वो सरकार बना पाती है।

International News inextlive from World News Desk