नर्इ दिल्ली ( पीटीआर्इ )। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सौभाग्य योजना के लाभार्थियों से नमो ऐप के जरिए बात की। पीएम ने कहा 2005 में कांग्रेस ने साल 2009 तक देश के सभी गांवाें में बिजली पहुंचाने का वादा किया था लेकिन यह अधूरा रह गया। इसके लिए उन्होंने कांग्रेस के नेतृत्व वाले शासनों और पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को जिम्मेदार ठहराया।

साैभाग्य योजना का उद्देश्य देश के हर घर को रौशन करना
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब उनकी सरकार सत्ता में आई, तो 18,000 गांवों में बिजली नहीं थी। एेसे में उनकी सरकार ने सौभाग्य योजना के तहत 31 मार्च 2019 तक हर घर तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा ताकि देश का कोई भी घर अंधेरे में ना रहे।  16,000 करोड़ रुपये के बजट वाली इस साैभाग्य योजना का उद्देश्य देश के गावों को रोशन करना है।

31 दिसंबर 2018 तक रोशन करने का लक्ष्य लेकर चल रही

प्रधानमंत्री  ने यह भी कहा कि 3.6 करोड़ घरों तक 31 मार्च 2019 तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। हालांकि केंद्र सरकार इन घरों को 31 दिसंबर 2018 तक रोशन करने का लक्ष्य लेकर चल रही है। पीएम ने इस बात का भी जिक्र किया है कि हाल ही में अभी सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के बिजली मंत्रियों की शिमला में बैठक हुर्इ थी।

इसमें गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जाना
शिमला की इस बैठक के दौरान सभी बिजली मंत्रियों ने 31 दिसंबर 2018 तक सभी घरों तक बिजली पहुंचाने की प्रतिबद्धता जताई थी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सौभाग्य योजना के तहत अब तक  80-85 लाख विद्युतीकृत हो चुके हैं। इसमें गरीब परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जाना है। इसमें फ्री कनेक्शन के साथ एक किट भी दी जाती है।  

विद्युतीकरण के लाभार्थियों ने अपने अनुभव भी साझा किए

इस दौरान प्रधान मंत्री से विद्युतीकरण के लाभार्थियों ने अनुभव भी साझा किए। ग्रामीणों ने बताया कि आज गावों में बिजली पहुंचने से उन्हें काफी अच्छा मससूस हो रहा है। उनके गांव में शहरों जैसी सुविधाएं मिल रही हैं। वे आज टीवी देख सकते हैं। उन्होंने हीटर, पंखे आदि भी खरीद लिए हैं। खुशी की बात ये है कि बिजली पहुंचने से बच्चों को पढ़ार्इ में मदद मिल रही है।

मिर्जापुर में पीएम ने दी कर्इ बड़ी परियाेजनाआें की सौगात, बोले किसानों के लिए घड़ियाली आंसू बहाता है विपक्ष

पीएम ने दिया 'परिवहन से परिवर्तन' का मॉडल

National News inextlive from India News Desk