वाशिंगटन (पीटीआई)।  अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने सौरमंडल के बाहर पृथ्वी के आकार का ही एक ग्रह खोज निकाला है। यह ग्रह धरती से 53 प्रकाशवर्ष दूर स्थित तारे की परिक्रमा कर रहा है। एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लेटर्स में प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार, इस ग्रह की खोज नासा के ट्रांजिटिंग एक्सोप्लेनेट सर्वे सेटेलाइट (टीईएसएस) ने  की है। टीईएसएस ने उस तारे की व्यवस्था में नेपच्यून (वरुण) ग्रह के आकार का भी एक ग्रह खोजा है। अमेरिका में कार्नेजी इंस्टीट्यूशन फॉर साइंस की जोहन्ना टेस्क ने कहा, 'यह बहुत ख़ुशी की बात है कि करीब एक साल पहले लॉन्च हुआ टीईएसएस ग्रहों का पता लगाने में ऐतिहासिक साबित हुआ है।'

संकेतों से वैज्ञानिक करते हैं कन्फर्म

टेस्क ने कहा कि यह अंतरिक्ष यान पूरे आकाश का सर्वे कर रहा है। इससे कई अन्य जानकारियां निकालने में मदद मिलेगी। बता दें कि वैज्ञानिक टीईएसएस से मिले संकेतों को अन्य उपकरणों के जरिये कन्फर्म करते हैं। फैक्ट्स को कन्फर्म करने में चिली में स्थापित मेगलन-2 टेलीस्कोप पर लगे प्लेनेट फाइंडर स्पेक्ट्रोग्राफ (पीएफएस) मुख्य तरीके से काम करते हैं। 'पीएफएस' रेडियल वेलोसिटी मैथड तकनीक के आधार पर काम करता है। किसी ग्रह का द्रव्यमान जानने की यह एकमात्र उपलब्ध तकनीक है। बिना द्रव्यमान जाने किसी ग्रह का घनत्व और उसकी रासायनिक संरचना का पता लगाना बहुत मुश्किल होता है। यह तकनीक इस सिद्धांत पर काम करती है कि जिस तरह तारे के गुरुत्वाकर्षण से ग्रह की परिक्रमा पर असर पड़ता है, उसी तरह ग्रह के गुरुत्वाकर्षण से तारे पर भी प्रभाव पड़ता है।

NASA अंतरिक्ष में भेज रहा है अपना प्‍लैनेट हंटर स्‍पेसक्राफ्ट, जो खोजेगा ऐसे ग्रह जहां हो सकते हैं एलियन


दोनों ग्रहों का यह रखा गया नाम

बता दें कि टीईएसएस ने कुल दो ग्रह खोजे हैं। उनका नाम 'एचडी 21749बी' और 'एचडी 21749सी' रखा गया है। इन ग्रहों के तारे का द्रव्यनाम सूर्य 80 फीसद के बराबर है। एचडी 21749बी अपने तारे की पूरी परिक्रमा 36 दिनों में करता है। इस ग्रह का द्रव्यमान पृथ्वी से 23 गुना और त्रिज्या पृथ्वी से 2।7 गुना है। दूसरा ग्रह यानी एचडी 21749सी का आकार लगभग पृथ्वी के बराबर है। यह अपने तारे की आठ दिन में परिक्रमा पूरी करता है।

International News inextlive from World News Desk