छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: रांची से बहरागोड़ा एनएच 33 के निर्माण के लिए 17 करोड़ मिलने पर अब सड़क निर्माण में तेजी आएगी. एनएचआई ने जमीन अधिग्रहण के लिए 17 करोड़ की राशि बुधवार को जारी की है. जिससे भूमि अधिग्रहण में आ रही बजट की दिक्कत दूर होगी.

एनएच 33 के निर्माण में महुलिया से बहरागोड़ा खंड में भूमि अधिग्रहण का काम अभी तक बाकी था. मार्ग में पड़ने वाले कोकरामारागरिया गांव में सत्यभामा दंडपाट की थाना संख्या 624, खाता सं 186, प्लाट सं- 239 में क्षेत्रफल 0.02 एकड़ जमीन का अधिग्रहण न हो पाने से मार्ग का निर्माण कार्य नहीं हो पा रहा था. वहीं महुलिया से बहरागोड़ा खंड के लिए 277.500 किलोमीटर से 333.500 किलोमीटर तक चौड़ीकरण के काम में कोकपारा, बांसकटिया और चारचक्का गांवों की जमीन का अधिग्रहण नहीं हो पाया हैं. इन गांवों के लोगों को 17.88 करोड़ रुपये मिलना है. चारचक्का गांव को 11 करोड़ 27 लाख 83 हजार 5 रुपये, कोकपारा गांव में पांच करोड़ पांच लाख 27 हजार 44 रुपये और बांसकटिया गांव के रैयतों को एक करोड़ 14 लाख 17 हजार 767 रुपये का वितरण् भी बाकी हैं. महुलिया से बहरगोड़ा तक जोरशोल, सोनाखून, कोकपारा, बांसकाटिया और चारचक्का गांवों में किसानों की जमीन का अधिग्रहण न होने से चौड़ीकरण का काम रुका हुआ हैं. सड़क के चौड़ीकरण के लिए भूमि का मूल्याकंन होने के बाद भी 24 करोड़ 67 लाख 58 हजार 37 रुपये का मुआवजा न मिलने से काम बाधित है. जिसका भी जल्द ही भुगतान कर दिया जाएगा.

जमशेदपुर में मम्मत का काम शुरू

जयमाता दी कंपनी ने रांची-महुलिया राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) 33 की मरम्मत का काम शुरू कर दिया है. अभी मरम्मत का काम रांची में रामपुर और बुंडू के बीच और सरायकेला-खरसावां जिले में चौका में किया जा रहा है. कारोबारियों का कहना है कि जमशेदपुर में एनएच की बदतर हालत है. इसलिए यहां भी मरम्मत का काम शुरू होना चाहिए.