- कलश स्थापना कर सजाया माता का आसन

- देवी मंदिरों में रही भक्तों की भीड़, भजन, कीर्तन हुआ

BAREILLY:

जगत जननी मां दुर्गा की उपासना का महापर्व चैत्र नवरात्र का संडे से प्रारम्भ हो गया. ब्रह्मा मुहूर्त से देवी मंदिरों में घंटे-घडि़यालों के साथ माता रानी की जय की स्वर लहरियां गूंजने लगी. हाथों में पूजा की थाल लिए श्रद्धालु सुबह से ही मंदिरों के बाहर कतारों में लगे नजर आए. लोगों ने अपने घरों में ही कलश स्थापना के साथ माता का आसन सजाया. पहले दिन भक्तों ने मां शैलपुत्री का पूजन किया.

उपवास रख मांगी मन्नत

मां के दर्शन और पूजा-अर्चना के लिए संडे को पूरे दिन शहर के सभी मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ी रही. कालीबाड़ी, वैष्णो धाम, मनोकामना, चौरासी घंटा, साहूकारा आदि मंदिरों में भक्तों की काफी भीड़ रही. मां दुर्गा को फूल और मिष्ठान चढ़ाए. आरती उतारी. भक्तों ने उपवास रख माता रानी से मन्नत मांगी.

प्रसाद वितरण किए गए

शाम के वक्त देवी मंदिरों की मनोहर छटा देखने को मिली. जगह-जगह महिलाओं की टोली ढोलक की थाप पर भजन कीर्तन कर भक्तों ने माता रानी के गुणगान किए. शाम को मंदिरों में प्रसाद वितरण किए गए.

मंत्र जाप का आयोजन

नवरात्रि के अवसर पर सिद्धयोग शक्ति दरबार के प्रांगण में 2 घंटे का मंत्रजाप का आयोजन हुआ. जिसमें गुरुदेव गोविंद ने सभी भक्तों को मंत्रजाप कराया. जिसमें लगभग 75 लोगों ने भाग लिया. बाद में हवन का आयोजन भी हुआ जिसमें सभी भक्तों ने हवन कुंड में आहुति देकर गुरुदेव, गुरुमां से आशीर्वाद लिया.

सेल्फी लेना नहीं भूल

मंदिर में माता रानी के दर्शन के दौरान भक्तों ने सेल्फी भी लिए. परिवार, फ्रेंड्स और रिलेटिव के साथ मंदिर में आए लोगों ने माता की प्रतिमा के सामने, कतार में लगे हुए, घंटा बजाते हुए आदि मोमेंट की सेल्फी ली.

रामगंगा मे किया स्नान

वहीं अखिल भारतवर्षीय महासभा, संस्कृति प्रकोष्ठ धर्म जागरण, श्री नाथ नगरी सेवा समिति और संस्कार भारती बरेली की ओर से भी नवसंवत के मौके पर हवन, आरती, दीप प्रज्वलित सहित कई कार्यक्रम का आयोजन किया गया. रामगंगा में भक्तों ने स्थान किए.