बचाव अभियान को ऑपरेशन निस्तर का नाम दिया गया
नई दिल्ली (पीटीआई)। हाल ही में भयंकर समुद्री तूफान के कारण यमन के नजदीक सोकोत्रा द्वीप में करीब 50 भारतीय नागरिक फंस गए थे। ऐसे में भारतीय नौसेना ने बीते शनिवार को  एक ऑपरेशन चलाते हुए 38 भारतीयों को सुरक्षित निकाल लिया। हालांकि अभी भी 12 लोग अभी लापता हैं। उनकी तलाश की जा रही है।  दस दिनों से इस सोकोत्रा द्वीप में  में फंसे इन 38 भारतीयों ने बताया कि वहां पर उनके लिए पानी और खाने का संकट था। वह किसी तरह से अपने देश वापस आना चाहते थे। वहीं नौसेना के चलाए गए इस ऑपरेशन को लेकर  नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा का कहना है कि इस बचाव अभियान को ऑपरेशन निस्तर का नाम दिया गया है।

24 मई को समुद्री तूफान आने से ये भारतीय फंस गए थे

नौसेना ने शनिवार को अदन की खाड़ी के नजदीक मौजूद अपने युद्धपोत आइएनएस सुनयना को सोकोत्रा द्वीप की ओर रवाना किया था।ऐसे में युद्धपोत रविवार सुबह द्वीप के तट पर जा पहुंचा। इसके बाद युद्धपोत आइएनएस सुनयना  38 भारतीयों को वापस लाने के लिए रवाना हुआ। इस दौरान इन भारतीयों को टेलीफोन के माध्यम से उनके परिजनों से बात कराई गई। सभी के चेहरे पर खुशी साफ दिख रही थी। प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने यह भी बताया कि ये सभी  तीन नावों में सवार थे। इन दौरान नौसेना ने सूचना मिलने पर 28 और 29 मई को उनकी तलाश की थी लेकिन सफलता नहीं मिली थी। बता दें कि 24 मई को समुद्री तूफान आने से ये भारतीय फंस गए थे।

किसानों की हड़ताल का आज चौथा दिन, दूध व सब्जियों पर दिखने लगा असर

14 मिनट तक लापता रहा सुषमा स्वराज का विमान, दिल्ली से मॉरीशस तक मचा हड़कंप

National News inextlive from India News Desk