JAMSHEDPUR: जमशेदपुर पुलिस को लगातार चुनौती दे रहे एक करोड़ के इनामी नक्सली समीर मंडल उर्फ आकाश दस्ता अब चारों और पुलिस से घिर गया है. शहर की पुलिस टीम ने लैंड माइंस को विफल करने तथा जंगल में गुरिल्ला वार के लिए विशेष प्रशिक्षित झारखंड जगुआर फोर्स, कोबरा कमांडो व सीआरपीएफ के साथ शुक्रवार को 10 किलोमीटर के क्षेत्रफल वाले जंगल को घेर लिया है. अभियान की मॉनीटरिंग कर रहे एसएसपी अनूप बिरथरे ने बताया कि जगुआर, कोबरा, सीआरपीएफ के साथ पुलिस फोर्स को तीन भागों में बांटकर ऑपरेशन चलाया जा रहा है. जिसमें एक टीम बोड़ाम-पटमदा की ओर से आगे सर्च करते हुए बढ़ रही है. वहीं दूसरी ओर घाटशिला की ओर से दूसरी टीम सर्च कर रही है. एसएसपी ने बताया कि नक्सली दस्ता पश्चिमी बंगाल की सीमा में प्रवेश न कर पाए इसके लिए पुरूलिया के एसपी से संपर्क किया जा रहा है.उन्होंने पुरूलिया एसपी भी पुलिस फोर्स के साथ बंगाल सीमा से सर्च ऑपरेशन चलाते हुए आगे बढ रहे है ताकि नक्सली बंगाल में प्रवेश न कर जाए.

सभी संभावित रास्ते पर पुलिस का पहरा

पुलिस ने नक्सलियों के आने जाने वाले संभावित रास्तों पर पहले से ही भारी फोर्स तैनात कर रखी है. जिससे सर्च ऑपरेशन में किसी प्रकार की चूक न हो सके. आधुनिक उपकरण से लैस पुलिस सभी संभावित रास्तों पर घात लगाकर बैठी है. एसएसपी ने बताया कि रास्तों को बंद करने का मकसद खाने पीने की चीजों का अंदर न पहुंच पाना जिसके बाद ही नक्सली कमजोर पड़ सकते है. उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में या तो वे आत्मसर्पण को मजबूर होंगे या पुलिस के हाथों मारे जाएंगे. उन्होंने बताया कि रास्ते में लैंड माइंस अगर बिछी है तो उसे डिफ्यूज दस्ता भी मौजूद है. इसके अलावा पुलिस के आगे-आगे विशेष नस्ल के स्निफर डॉग चल रही है ताकि कहीं किसी तरह का खतरा हो तो वह पहले ही सचेत कर सके.

लगातार चलता रहेगा अभियान : एसएसपी

नक्सलियों के खिलाफ पिछले चार दिनों से सीआरपीएफ, कोबरा, जगुआर की बटालियन, जिला पुलिस के पांच कंपनी फोर्स जंगल का खाक छान रही है. जमशेदपुर के एसएसपी ने बताया कि अभियान के चलते माओवादी बंगाल सीमा की ओर भागने की फिराक में है. इसे देखते हुए बंगाल के पुरूलिया जिले के एसपी भी नक्सली को अपने इलाके में प्रवेश न कर सकें इसके लिए बंगाल की ओर से भी सर्च अभियान चलाया गया है. जमशेदपुर पुलिस तो दूसरी ओर से बंगाल पुलिस माओवादी का समूल नष्ट करने के लिए अभियान में जुट गयी है.