RANCHI: गुरुवार की रात एक बार फिर गढ़वा के भंडरिया और आसपास के इलाके से भाकपा माओवादी के नक्सलियों ने 10 बच्चों को जबरन उठा लिया है. नक्सली इन्हें अपने साथ लेते गए हैं. स्थानीय लोगों ने यह जानकारी दी है. हालांकि पुलिस ने ऐसी कोई भी घटना से इनकार किया है.


सामने आए 10 नाम

एक लोकल पुलिस ऑफिसर ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि नक्सली दस्ते ने भंडरिया थाना क्षेत्र के टेहड़ी पंचायत स्थित बुढ़ापहाड़ के झलडेरा टोले से क्0 लोगों को जबरन उठाया है. इनके नाम बूटन कोरवा के पुत्र जगदीश नगेशिया, संपतिया कोरईन, बजरंगी ब्रिजिया के पुत्र रिहुल ब्रिजिया, बिफा ब्रिजिया के पुत्र अझनु ब्रिजिया, फरहा किसान, जिखर किसान, सुरेश यादव का बेटा प्रह्लाद यादव, चन्दन यादव और छुटकु यादव शामिल हैं.

संगठन में शामिल करने ले गए

स्थानीय लोगों के अनुसार, बूढ़ा पहाड़ और आसपास के इलाकों में पुलिस का मूवमेंट तेज हुआ है. भंडरिया से लगभग ब्भ् किलोमीटर दूर नौ परिवारों की इस बस्ती से नक्सलियों ने एक महिला समेत सात लोगों को उठाया है, ताकि वे पुलिस की मुखबिरी न कर सकें. हालांकि एडीजी आरके मल्लिक ने इस घटना से इनकार किया है और इसे अफवाह बताया है.

18 बच्चों को स्कूल से भी उठाया था

गुमला, लोहरदगा और सिमडेगा के क्8 बच्चे अब भी नक्सलियों के पास हैं. पुलिस उन्हें नक्सलियों के चंगुल से मुक्त नहीं करा पाई है. इन बच्चों को अलग-अलग इलाकों के स्कूलों से ले जाया गया था. अब सभी दस्ता में शामिल हैं. जिस समय बच्चों को नक्सली अपने साथ ले गये थे, उस समय वे सभी नाबालिग थे, लेकिन अब इतना समय बीत गया कि अब वे बालिग हो गए हैं.

Crime News inextlive from Crime News Desk