- पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दुल्हन के परिवार वालों को दी सूचना

prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: घर में खुशियों का माहौल था। हर कोई शादी की खुशियों में व्यस्त था। दूल्हे की भाभियों और बहनों ने नई नवेली दुल्हन का सुहाग सेज सजाया और हंसी-मजाक के दौर के बाद दूल्हा-दुल्हन को कमरे में भेज दिया गया। अब रात में क्या हुआ? भगवान जाने, सुबह कमरे से दूल्हे के चीखने की आवाज आई तो सभी चौंक पड़े। हड़बड़ाए दूल्हे ने कमरे का दरवाजा खोला तो सभी सन्न रह गए। दुल्हन की लाश पंखे के सहारे लटक रही थी। सूचना पर पहुंची शिवकुटी थाना की पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस की ओर से दुल्हन के मायके वालों को घटना की जानकारी दी गई है। खबर लिखे जाने तक मायके वाले नहीं पहुंचे थे।

बिहार के सीतामढ़ी में की शादी
महाबीरपुरी मोहल्ला निवासी आशोक कुमार सिंह टिफिन में भोजन सप्लाई का काम करता है। बेटा अमित सिंह एमएनएनआईटी में चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी है। हाल ही में पिता ने बेटे की शादी बिहार के रामपुर गंगोली सीतामढ़ी निवासी नरेंद्र सिंह की बेटी मोना सिंह से की। दो मार्च को शादी हुई। तीन मार्च को दुल्हन की विदाई कर लाया गया। रविवार को सुहागरात थी। पति पत्‍‌नी कमरे में थे। देर रात संदिग्ध परिस्थितियों में मोना ने पंखे के चुल्ले के सहारे फांसी लगा लिया। सोमवार को अमित सोकर उठा, तो फांसी के फंदे से लटक रही पत्‍‌नी को देखकर चीखने-चिल्लाने लगा। परिवार के सदस्य व रिश्तेदार कमरे में पहुंचे तो वे भी अवाक रह गए। नई नवेली दुल्हन द्वारा सुसाइड की सूचना फैलते ही मोहल्ले में तरह-तरह की बातें की जाने लगी। लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना पर पहुंचे नारायणी आश्रम के चौकी इंचार्ज शिवचरण ने लाश को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। कमरे की छानबीन में पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला।

दूल्हे को पता क्यों नहीं चला?

- दूल्हा-दुल्हन दोनों एक ही कमरे में थे तो दुल्हन ने फांसी लगा ली और दूल्हे को पता तक नहीं चला यह बात किसी को पच नहीं रही है

- पुलिस भी मामले को संदिग्ध मानकर चल रही है, अभी उसे दुल्हन के परिवार वालों का इंतजार है, उनके आने के बाद कार्रवाई की बात कह रही है

- दुल्हन ने पंखे के सहारे फांसी पर लटकने के लिए टेबल का इस्तेमाल किया, बाद में उसके झटके से टेबल गिरा तो उसकी आवाज से भी दूल्हे की नींद नहीं खुली यह चौंकाता है

- फांसी पर लटकने के बाद दुल्हन की जान तत्काल नहीं गई होगी, वह कुछ देर तड़पी होगी और हो सकता है उसके मुंह से आवाज भी निकली हो, इसके बाद भी दूल्हा क्यों नहीं उठ सका

मामला संदिग्ध लग रहा है। पति से पूछा गया तो उसने बताया कि वह गहरी नींद सो रहा था। मृतका के परिवार वालों को सूचना दी गई है। उनके आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।
- ऋषिपाल सिंह, इंस्पेक्टर, शिवकुटी थाना