राहत की उम्‍मीद थी
मर्सिडीज-बेंज इंडिया बेंज का कहना है कि बजट में प्रस्तावित इंफ्रास्ट्रक्चर सेस और लक्जरी टैक्स की भरपाई के लिए अब मर्सिडीज गाड़ियों के दाम 5 लाख रुपये तक बढ़ जाएंगे। मर्सिडीज कंपनी अपनी सभी कारों की कीमत तीन से पांच फीसद बढ़ाएगी। कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर व सीईओ रोलैंड फोल्जर का कहना है कि इस आम बजट ने लोगों की उम्‍मीदों पर पानी फिर गया। बजट में ऑटो उद्योग को ड्यूटी में विवेकीकरण के जरिये कुछ राहत की उम्मीद थी लेकिन इसके विपरीत अतिरिक्त टैक्स लाद दिए गए। चार मीटर से लंबे और 1200 सीसी से ज्यादा क्षमता वाली पेट्रोल कारों और 1500 सीसी क्षमता वाली डीजल कार और मल्टी यूटीलिटी वाहनों पर ज्यादा टैक्स लगेगा। इसके साथ ही कंपनी का कहना है कि कि एक्सयूवी500 और स्कॉर्पियो के कुछ मॉडलों पर यह टैक्स लगेगा।

प्रयासों के विपरीत

एक्सयूवी500 मॉडलों की कीमत 11.5 लाख से 17.23 लाख रुपये (मुंबई में एक्स-शोरूम) से बीच है जबकि स्कॉर्पियो के कुछ मॉडलों की कीमत 14.08 लाख रुपये तक है। कंपनी का कहना है कि यह टैक्स आगे एडजस्ट किया जा सकता है। लेकिन ग्राहकों को कार खरीदते समय इसका भुगतान करना होगा। डीलरों को यह टैक्स वसूलकर सरकार को जमा करना होगा। इस तरह यह टैक्स कारोबार में आसानी के सरकार के प्रयासों के विपरीत है। बजट दस्तावेज के अनुसार थ्री-व्हीलर, इलेक्ट्रिक व हाईब्रिड कार और फ्यूल सेल टैक्नोलॉजी से चालित वाहनों को इस टैक्स से मुक्त रखा गया है। इसके अलावा दिव्यांगों के इस्तेमाल वाले वाहनों को भी इस टैक्स से मुक्त रखा गया है। इसके साथ ही कंपनी का कहना है कि ये टैक्स एक्स-शोरूम मूल्य पर लगेगा।

inextlive from Business News Desk

Bollywood News inextlive from Bollywood News Desk