- रेलवे बोर्ड ने उत्कृष्ट योजना के तहत ट्रेन के कोचों को विभिन्न सुविधाओं से लैस करने का लिया फैसला

- पुष्पक एक्सप्रेस में 40 प्रतिशत सफर करने वाले कानपुराइट्स, कानपुर से मुम्बई के लिए पैसेंजर्स की सबसे पसंदीदा ट्रेन

- 31 जनवरी को मॉडल के तौर पर एक कोच लगाया जाएगा ट्रेन में

kanpur@inext.co.in

kanpur. रेलवे ने कानपुर से मुम्बई जाने वाले सैकड़ों पैसेंजर्स की सुविधा को ध्यान में रखते हुए उत्कृष्ट योजना के तहत पुष्पक एक्सप्रेस के कोचों को विभिन्न सुविधाओं से लैस करने की प्लानिंग की है. रेलवे अधिकारियों के मुताबिक दो करोड़ के बजट से इस योजना को अंजाम दिया जाएगा. लखनऊ मंडल के पीआरओ आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि 31 जनवरी तक मॉडल के तौर पर तैयार किए गए एक कोच को पुष्पक ट्रेन में लगा भी दिया जाएगा. संभावना जताई जा रही है कि आने वाले तीन से चार माह में पुष्पक का स्वरूप पूरी तरह से बदला नजर आएगा.

40 परसेंट कानपुराइट्स करता है सफर

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक डेली लखनऊ से वाया कानपुर होकर मुम्बई चलने वाली पुष्पक एक्सप्रेस में सफर करने वाले पैसेंजर्स में लगभग 40 परसेंट पैसेंजर्स कानपुर के होते हैं. कानपुर से मुम्बई के लिए कोई अन्य ट्रेन न चलने की वजह से कानपुराइट्स पुष्पक एक्सप्रेस को अधिक पसंद करते हैं.

दीनदयालू की तरह जनरल कोच में सुविधा

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक 'जनरल' दीनदयालू कोच की तरह ही पुष्पक एक्सप्रेस के जनरल कोचों में भी पैसेंजर्स को विभिन्न सुविधा मुहैया होंगी. इसके साथ ही टॉयलेट का स्वरूप भी पूरी तरह बदल कर आधुनिक कर दिया जाएगा. उन्होंने बताया कि जनरल के साथ स्लीपर कोच व एसी कोचों को दो करोड़ रुपए के बजट से पूरी तरह बदल दिया जाएगा.

सैकड़ों कानपुराइट्स को मिलेगा लाभ

लखनऊ मंडल के पीआरओ आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि उत्कृष्ट योजना के तहत बदले जा रहे पुष्पक एक्सप्रेस के स्वरूप से सैकड़ों कानपुराइट्स को लाभ मिलेगा. उन्होंने बताया कि डेली चलने वाली पुष्पक एक्सप्रेस में हर दिन 200 से 300 पैसेंजर्स सफर करते हैं.

पैसेंजर्स को मिलेंगी यह सुविधाएं

- जनरल कोच में आरओ मशीन

- सफाई के लिए टॉयलेट के पास डस्टबिन

- टॉयलेट के बाहर इंडीकेशन बोर्ड

- आरामदायक बर्थ

- टॉयलेट में रेक्सीन मैट की जगह फ्लोरिंग कारपेट

- स्लीपर कोच की बर्थ अधिक चौड़ी होगी

आंकड़े

24 कोच की पुष्पक एक्सप्रेस

2 एसएलआर कोच

4 जनरल कोच

13 स्लीपर कोच

2 थर्ड एसी कोच

1 सेकेंड एसी कोच

1 फ‌र्स्ट एसी कोच

1 पेंट्रीकार कोच

16 सौ से अधिक पैसेंजर्स ट्रेन में डेली सफर करते हैं

4 सौ के करीब पैसेंजर्स कानपुर के होते हैं

कोट

उत्कृष्ट योजना के तहत पुष्पक एक्सप्रेस के कोचों को आधुनिक सुविधाओं से लैस कर अलग ही स्वरूप में बनाने की प्लानिंग है. इसका लाभ कानपुराइट्स को सीधे तौर पर मिलेगा.

आलोक श्रीवास्तव, पीआरओ, लखनऊ मंडल