सड़क पर वाहन खड़े कर भरते हैं सवारी, वाहनों की गति पर भी नहीं कोई ढिलाई

पूर्व में कई लोगों की जा चुकी है जान, कुछ दिन तैनात किया गया था पुलिस पिकैट

आगरा। हाईवे पर आईएसबीटी के सामने ब्लैक स्पॉट बन गया है। आए दिन यहां हादसे होते रहते हैं। कई बार लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। बावजूद इसके संबंधित विभाग इस स्पॉट पर कोई ध्यान नहीं दे रहे। शुक्रवार को इस स्पॉट पर सीओ एलआईयू की कार को टैंकर ने चपेट में ले लिया। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि कार करीब 20 मीटर तक घसीटती हुई गई।

खड़े हो जाते हैं ऑटो

आईएसबीटी के सामने मुख्य मार्ग पर ऑटो चालकों ने स्टैंड बना रखा है। चलते हुए रोड के किनारे ऑटो खड़ा कर देते हैं और सवारियों का इंतजार करते हैं। लोग भी ऑटो देख कर किनारे पर खड़े हो जाते हैं। कई बार लोग तेज गति से आ रहे बड़े वाहनों की चपेट में आने से बच जाते हैं। जरा सी नजर चूकने पर यहां पर बड़ा हादसा हो जाता है।

क्रॉसिंग पड़ सकती है भारी

आईएसबीटी से बस पकड़ने के लिए जाने वाला रास्ता खंदारी फ्लाई ओवर के नीचे से जाता है। लेकिन लोग वहां तक जाने की जहमत नहीं उठाते, बल्कि सीधे हाईवे से पूरा रिस्क लेकर रोड पार करते हैं। पूर्व में सड़क पर पार करने के दौरान और वाहन का इंतजार करने के दौरान भीषण हादसा हुआ था, जिसमें कई लोगों की जान गई, लेकिन फिर भी लोग जान जोखिम में डालने से नहीं चूकते।

नहीं दिखाई देता पिकैट

पूर्व में हुए हादसों में यहां पर पुलिस पिकैट की तैनाती की गई थी। पिकैट लगने के बाद ऑटो और बसों का खड़ा होना बंद हो गया। यहां तक की वाहनों की गति पर भी कुछ नियंत्रण हुआ था, चूंकि आगे पुलिस देखकर वाहन चालक खुद वाहन की गति को नियंत्रित कर देते थे। लेकिन यह व्यवस्था कुछ दिन ही चली। पिकैट हटने के बाद वहां पर फिर से वही हालात बन गए। लोग जान का जोखिम लेने को खड़े रहते हैं।

आबादी का पड़ रहा असर

हाईवे के दोनों तरफ बड़ी आबादी है। लोगों का आना-जाना भी बना रहता है। थोड़े से काम के लिए लोग हाईवे को पैदल चलते वाहनों के बीच से निकलने में भी गुरेज नहीं करते। यहां पर आईएसबीटी से बस पकड़ने के लिए लोग खंदारी फ्लाई ओवर तक नहीं जाते, बल्कि बीच के मुख्य मार्ग पर मशक्कत कर चढ़ जाते हैं।