- 91 लाख 77 हजार रुपए सेकंड गेट पर हुए खर्च

- 85 लाख 66 हजार रुपए सीसीटीवी लगाने पर हुए खर्च

---------------------

- जंक्शन पर सेंकड एंट्री गेट और सीसीटीवी का उद्घाटन करेंगे केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार और प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल

- दो साल स्टेशन के बाहर पड़े एक्सेलरेटर को फिक्स करने का काम भी शुरू होगा

बरेली. रेलवे मंडे को बरेलियंस को पांच बड़े कामों की सौगात देने जा रहा है. बरेली जंक्शन पर जहां सेकंड एंट्री गेट और सीसीटीवी कैमरों का उद्घाटन होगा, वहीं स्टेशन पर एक्सेलरेटर लगाने के काम की शुरुआत होगी. उधर, मीरगंज के नगरिया सहादत स्टेशन पर फुट ओवर ब्रिज का भी शिलान्यास होगा. इसके लिए संडे को दिनभर तैयारियां चलीं. उद्घाटन और शिलान्यास केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार और प्रदेश के वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल करेंगे.

सुभाषनगर की ओर खुलेगा गेट

सबसे पहले सुबह बरेली जंक्शन के सेकंड एंट्री गेट का उद्घाटन किया जाएगा. इस गेट को सुभाष नगर की ओर खोल गया है. इस गेट के ओपन होने से सुभाष नगर और बदायूं रोड की ओर से आने वाले लोगों को लंबा चक्कर काटकर जंक्शन आने की जरूरी नहीं होगी. वे अब नए गेट से एंट्री कर अपनी ट्रेन पकड़ सकते हैं. साथ ही यहां से जनरल टिकट, रिजर्वेशन, आदि भी करा सकते हैं. इतना ही नहीं जो सुविधाएं पहले एंट्री गेट पर मिल रही थीं, वो यहां भी दी जाएंगी. इसके बाद दोनों मंत्री जंक्शन पर लगाए गए सीसीटीवी कैमरों का भी उद्घाटन करेंगे. हरिद्वार, बरेली और मुरादाबाद जंक्शन पर सीसीटीवी कैमरों के लिए 2 करोड़, 57 हजार रुपए खर्च किए गए हैं.

विवादों के कारण हुआ लेट

बहुत दिनों से कबाड़ में बाहर पड़े एक्सेलरेटर के अलग-अलग उपकरणों को असेंबल कर उसे फिक्स करने का काम भी मंडे से शुरू होगा. इसका शिलान्यास भी दोनों मंत्रियों के हाथों होगा. ढाई साल से स्टेशन पर पड़े ये एक्सेलरेटर के उपकरणों में जंग भी पड़ गई है. रेलवे का कहना है कि जिस कंपनी के पास इसका काम है, उसके कई और काम थे. इस वजह से लेट हुआ. इस काम को 31 मार्च 2018 तक पूरा होना था, लेकिन कई विवादों के कारण यह लेट होता चला गया.

एफओबी का काम भी शुरू होगा

एक्सलेटर की नींव रखने के बाद मंत्री मीरगंज के नगरिया सहादत स्टेशन को रवाना होंगे. वहां नगरिया सहादत स्टेशन पर बनने वाले फुट ओवर ब्रिज का भी शिलान्यास करेंगे. यहां लो लेवल प्लेटफार्म को हाई लेवल प्लेटफार्म में कनवर्ट करने का भी काम किया जाएगा. सीएमआई राकेश ने बताया कि नगरिया में एफओबी नहीं होने की वजह से वहंा पर काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. इसलिए वहां पर एफओबी का बनना जरूरी था. उन्होंने यह भी बताया कि लो लेवल प्लेटफार्म होने की वजह से यात्रियों को दिक्कत होती थी. लेकिन जब हाई लेवल कर दिया जाएगा तो यह समस्या भी खत्म हो जाएगी.

अभी भी अधूरा काम

जंक्शन पर सेकंड एंट्री गेट का उद्घाटन आज होना है लेकिन अभी तक इसका काम बाकी है. जंक्शन पर टाइल्स लगाने का काम भी पूरा नही हो पाया है. संडे को भी पूरे दिन और देर शाम तक काम चलता रहा. इसके बाबजूद भी काम पूरी तरह से नही हो पाया. इस तरह से तो लगता है कि जंक्शन के सेकंड एंट्री गेट का अधूरे में ही उद्घाटन होगा.