कल्याण सिंह ने भी बंगला खाली करने पर दी रजामंदी
lucknow@inext.co.in
LUCKNOW :
बताया जा रहा है कि मुलायम को यह बंगला उन्हीं की पार्टी के एक राज्यसभा सांसद गिफ्ट कर रहे हैं. उधर, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सबसे पहले बंगला छोड़ने की पहल करने वाले गृहमंत्री राजनाथ सिंह का सामान रविवार से शिफ्ट होना शुरू हो गया. इसी के साथ पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने भी माल एवेन्यू स्थित बंगला खाली करने पर अपनी रजामंदी दे दी है.

बंगला आवंटन के लिये दिया था सुझाव
सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रदेश के सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को मिले सरकारी बंगले खाली करने के आदेश पर राज्य संपत्ति विभाग ने सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों को नोटिस जारी किया था. उसी दौरान पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात कर खुद व बेटे अखिलेश यादव के लिये बंगला आवंटित करने के लिये लिखित रूप से दो सुझाव दिये थे. पहला सुझाव था कि मुलायम व अखिलेश के बंगले नेता प्रतिपक्ष (विधानसभा) और नेता विरोधी दल (विधानपरिषद) के नाम से आवंटित कर दिये जाएं. वहीं, दूसरा सुझाव दिया गया था कि खुद मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव को केंद्र सरकार से जेड श्रेणी की सुरक्षा मिली है, जिसका आधार लेकर भी उन्हें आवास आवंटित किये जा सकते हैं. हालांकि, उनके सुझाव को सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य संपत्ति विभाग को भेज दिया था. पर, उनके पत्र पर कोई कार्रवाई नहीं हुई.

11 हजार स्क्वायर फीट का बंगला
इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री व वर्तमान केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य संपत्ति विभाग को सूचित किया कि वे कालिदास मार्ग स्थित बंगला खाली करने को तैयार हैं. उनके इस कदम से अन्य पूर्व मुख्यमंत्रियों पर दबाव बढ़ गया. इसी के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने भी बंगला खाली करने को लेकर रजामंदी दे दी. जिसके बाद मुलायम सिंह यादव ने भी नये आशियाने की तलाश को हरी झंडी दे दी. बताया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद व पेशे से बिल्डर संजय सेठ ने लंबी जद्दोजहद के बाद गोमतीनगर के सृजन विहार में एक बंगला तलाश किया. बताया जाता है कि 11 हजार स्क्वायर फीट का यह बंगला मुलायम व अन्य परिजनों को भी पसंद आ गया है. सूत्रों के मुताबिक, 16 करोड़ रुपये कीमत के इस बंगले की रजिस्ट्री जल्द हो जाएगी और मुलायम विक्रमादित्य मार्ग स्थित बंगले से अपने नये बंगले में शिफ्ट हो जाएंगे.

राजनाथ का बंगला खाली होना शुरू
बंगला खाली करने की सबसे पहले इच्छा जताने वाले पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह ने इसे खाली करने में भी बाजी मार ली है. राजनाथ के निर्देश पर कर्मचारियों ने बंगले का सामान उनके गोमतीनगर के विपुलखंड स्थित बंगले 3/206 में शिफ्ट करना शुरू कर दिया. इससे पहले शनिवार को इस बंगले में सफाई व पेंटिंग का काम युद्धस्तर पर शुरू किया गया था. जिसे रविवार शाम पूरा कर लिया गया. पेंटिंग पूरी होने के बाद हाफ डाला में लोड कर सामान इस बंगले में शिफ्टिंग का काम शुरू कर दिया गया. बताया जा रहा है कि राजनाथ के बंगले का पूरा सामान दो से तीन दिन में पूरी तरह शिफ्ट कर पुराने बंगले को खाली कर दिया जाएगा.

तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों पर संशय बरकरार
राजनाथ, कल्याण सिंह व मुलायम सिंह यादव ने तो बंगले खाली करने पर अपनी रजामंदी दे दी है लेकिन, अभी तीन मुख्यमंत्रियों की ओर से राज्य संपत्ति विभाग को कोई जवाब नहीं मिला है. पूर्व मुख्यमंत्री व बीएसपी सुप्रीमो मायावती, अखिलेश यादव व नारायण दत्त तिवारी की ओर से बंगला खाली करने को लेकर अब तक कोई जानकारी नहीं मिल सकी है. बताया जा रहा है कि नारायण दत्त तिवारी के माल एवेन्यू स्थित बंगले में किसी के न होने की वजह से अब तक नोटिस नहीं दिया जा सका है. अब राज्य संपत्ति विभाग के अधिकारी दिल्ली जाकर उन्हें नोटिस मुहैया कराएंगे.