बदल गई है पूरी ट्रेन, जनरल, स्लीपर, एसी क्लास सहित सभी बोगियां हैं एकदम नई

संडे से दिल्ली जाने वाले पैसेंजर्स फील करेंगे चेंज, सांसद दिखाएंगे हरी झंडी

balaji.kesharwani@inext.co.in

ALLAHABAD: प्रयाग राज एक्सप्रेस का नया अवतार संडे को ट्रैक पर आ जाएगा. संडे से पैसेंजर्स न्यू 'प्रयागराज एक्सप्रेस' में सफर करेंगे. घबराएं नहीं, आपकी प्रयागराज एक्सप्रेस ट्रेन तो वही है, लेकिन ट्रेन में लगे सभी डिब्बे बदल गए हैं. पुराने डिब्बों की जगह अब जनरल कोच से लेकर स्लीपर और एसी कोच में नए एलएचबी कोच लगाए गए हैं. जो कम्फर्ट के साथ ही लग्जरियस यात्रा का एहसास कराएंगे. संडे की रात नए कोचों वाली प्रयाग राज एक्सप्रेस इलाहाबाद से दिल्ली के लिए रवाना करने के लिए सांसद केशव प्रसाद मौर्या और श्याम चरण गुप्ता खुद रेलवे अधिकारियों के साथ जंक्शन पर मौजूद रहेंगे.

रीफ्रेश फील कराएंगे टॉयलेट

प्रयागराज एक्सप्रेस के नए कोचेज की खासियत ये है कि सभी कोच में बॉयो-टॉयलेट लगाए गए हैं. टॉयलेट के फ्लोर पर खास तरह की कोटिंग की गई है. इसके अलावा टॉयलेट में कोई है या नहीं, इसके लिए भी इंडीकेटर लगाए गए हैं. टॉयलेट के एक तरफ स्टेनलेस स्टील का डस्टबीन तो दूसरी तरफ वॉशबेसिन लगाया गया है, जो हमेशा चमकता हुआ नजर आएगा. यही नहीं टॉयलेट के अंदर भी स्टेनलेस स्टील का बेसिन लगाया गया है. स्लीपर कोच में पहले जहां 72 सीट पर चार टॉयलेट होते थे, वहीं अब 80 सीट पर चार टॉयलेट पैसेंजर इस्तेमाल करेंगे. क्योंकि हर कोच में आठ सीट बढ़ गई है. इसकी वजह से स्लीपर कोच अब पहले से थोड़ी लंबी हो गई है.

जनरल कोच में मोबाइल चार्जर

न्यू एलएचबी कोच में पैसेंजर्स की सुविधा का विशेष ध्यान रखते हुए हर दो सीटों के बीच एक मोबाइल चार्जर प्वॉइंट दिया गया है. ताकि लोगों को परेशानी का सामना न करना पड़े. एसी और स्लीपर कोच के साथ ही जनरल कोच में भी चार्जिग प्वाइंट बनाया गया है. जबकि पहले प्रयागराज एक्सप्रेस के जनरल कोच में मोबाइल चार्जिग के लिए पैसेंजर्स को परेशान होना पड़ता था.

बाक्स

रायबरेली रेल फैक्ट्री में बने कोच

प्रयागराज एक्सप्रेस में लगने वाले एलएचबी कोच राय बरेली रेल फैक्ट्री में तैयार कराए गए हैं. इनमें एसी कोच के हर डिब्बे में दोनों तरफ फायर इंस्ट्रीग्यूशर यानि अग्निशामक यंत्र लगाए गए हैं. इसके अलावा इन डिब्बों में एलईडी लाइट्स के साथ बड़े-बड़े डस्टबिन लगाए गए हैं. खास बात ये है कि डिब्बे में एंटी ग्रैफिटी कोटिंग की गई है, ताकि इन डिब्बों की खूबसूरती बरकरार रहे. डिब्बों के अंदर सामान रखने वाले रैक को भी गद्दीदार बनाया गया है. डोरवेज पर उचित ऊंचाई पर हैंड होल्डिंग्स लगाए गए हैं. खिड़कियों पर कोट हुक लगाए गए हैं ताकि यात्री अपने कपड़ों को इस पर टांग सकें.

बाक्स

स्पेशल है एसी का इंटीरियर

प्रयागराज एक्सप्रेस के जनरल, स्लीपर व एसी-3 कोच को जहां पैसेंजर्स की अधिक से अधिक सुविधा का ध्यान रखते हुए डिजाइन किया गया है, तो वहीं एसी सेकेंड और एसी फ‌र्स्ट क्लास कोच में स्पेशल इंटीरियर के साथ लग्जरियस कम्फर्ट का एहसास कराने का प्रयास किया गया है. एसी-2 कोच में हर सीट के साइड में सिंगल एलईडी लाईट लगाई गई है, जो रोशनी तो भरपूर देगी, लेकिन आंखों में बिल्कुल नहीं चुभेगी. इसके अलावा लग्जरियस लुक वाले पर्दे लगाए गए हैं. साथ ही फ्लोर पर भी मैट बिछाया गया है. कोच की गैलरी में एलईडी लाइट लगे हुए हैं. डार्क ब्लू, ब्लू और वाइट के साथ शैडो ब्लू कलर में कोच का इंटीरियर तैयार किया गया है.

बाक्स

एसी-1 में होगा इलाहाबाद दर्शन

प्रयागराज एक्सप्रेस के एसी फ‌र्स्ट क्लास कोच में ज्यादातर वीआईपी पैसेंजर ही सफर करते हैं. उनके कम्फर्ट का पूरा ध्यान रखते हुए कोच तैयार किया गया है. जनरल, स्लीपर, एसी-3 और एसी-2 कोच में जहां ब्लू और व्हाइट कलर का काम्बिनेशन है. वहीं फ‌र्स्ट क्लास कोच में रेड और व्हाइट कलर का इंटीरियर तैयार किया गया है. फ‌र्स्ट क्लास कोच में इलाहाबाद के दर्शनीय व ऐतिहासिक स्थलों की तस्वीर के साथ ही फ्लॉवर पॉट भी लगाए गए हैं. संगम किनारे, पत्थर गिरजाघर, हनुमान मंदिर के साथ ही अन्य ऐतिहासिक स्थलों की तस्वीरें कोच में लगाई गई हैं, जो पैसेंजर्स को इलाहाबाद की ऐतिहासिकता से जोड़ते हुए उन्हें इलाहाबाद की याद दिलाती रहेंगी.