- शासन की मंशा के अनुरूप बीआरडी में लगेंगी नई डिजिटल व एक्स-रे मशीन

- उपकरणों की बदलने की कॉलेज प्रशासन की ओर से शुरू की गई कवायद

GORAKHPUR: बीआरडी मेडिकल कॉलेज से अब पुरानी मशीनें बाहर किए जाने की कवायद शुरू कर दी गई है. बीआरडी में लगीं डिजिटल व एक्स-रे मशीन काफी पुरानी हो चुकी हैं. जिसके चलते आए दिन जांच में कोई ना कोई दिक्कत आती है. पुरानी मशीनों को बदलकर नई मशीन लगाने के लिए बीआरडी प्रशासन ने शासन को पहले ही प्रपोजल भेजा था. सूत्रों की मानें तो उपकरण लगाने के लिए सहमति मिल गई है. जल्द ही मरीजों को नई मशीनों से बेहतर जांच की सुविधा मिलेगी. सूत्रों की मानें तो नई मशीनों को लगाने के लिए अब मेडिकल कॉलेज प्रशासन जगह का चयन कर रहा है. स्थान चिन्हित होने के बाद मशीन लगाने का कार्य शुरू हो जाएगा. साथ ही बीआरडी प्रशासन की मंशा है कि एक ही छत के नीचे सभी जांच सुविधाएं मुकम्मल हो जिससे मरीजों को इधर-उधर भटकना न पड़े. इसलिए एमआरआई, सीटी स्कैन सेंटर स्थित गलियारे के खाली वार्ड में डिजिटल एक्सरे व एक्सरे मशीन लगाने पर विचार किया जा रहा है.

एक ही बिल्डिंग में होगी ओपीडी

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दूर दराज इलाके से लोग इलाज के लिए आते हैं. लेकिन कुछ विभाग अलग-अलग होने के चलते मरीजों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ता है. वहीं आर्थो विभाग में हर रोज मरीजों की लंबी कतार लगी रहती है. जिससे गलियारे में काफी भीड़ जमा रहती है. वहीं इसके ठीक सामने वाली बिल्डिंग में ज्यादातर विभाग की ओपीडी चलती है. जिम्मेदारों ने सभी विभागों को एक जगह करने का मन बनाया है जिससे मरीजों को एक दूसरे विभाग की दौड़भाग न करनी पड़े.