देहरादून: मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने थर्सडे को सचिवालय में मसूरी के यातायात, पार्किंग, सिवरेज, पेयजल, सड़क को लेकर संबंधित विभागों के साथ बैठक की. कंसल्टेंसी कंपनी द्वारा पार्किंग की त्रुटिपूर्ण डिजाइन बनाने को गंभीरता से लेते हुए मुख्य सचिव ने कंपनी को ब्लैकलिस्ट करने और जरूरत पड़ने पर एफआईआर दर्ज कराने की वॉर्निंग तक दे डाली. दो टूक कहा, रिवाइज्ड डिजाइन के अनुसार पार्किंग का निर्माण कराया जाय.

पर्यटन सीजन से पहले वैकल्पिक व्यवस्था हो

सीएस ने कहा कि पर्यटन सीजन शुरु होने से पहले 100 गाडि़यों की वैकल्पिक व्यवस्था की जाय. मैसानिक लॉज के पास पार्किंग बनाने की संभावनायें तलाशी जाय. लाइब्रेरी के निकट एमडीडीए के पार्किग की क्षमता 60 से बढ़ाकर 160 गाडि़यों की की जाय. इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि देहरादून से मसूरी रोड पर 91 मोड़ों में से 57 का चौड़ीकरण हो गया है. बाकी 34 मोड़ों के चौड़ीकरण के लिए कार्यवाही की जा रही है. हांथीपांव रोड पर यातायात के सुचारू संचालन के लिए कैश बैरियर, पैरापेट लगाए जाएं.

65 किमी का सीवरलाइन का निर्माण

सीएस ने निर्देश दिए कि पीडब्ल्यूडी, पुलिस इस मार्ग का संयुक्त निरीक्षण करेंगे. यह भी देखना होगा कि मसूरी जाने का एकल मार्ग करने से यातायात के दबाव को कम किया जा सकता है. इसके अलावा लांघा रोड को मसूरी से जोड़ने पर चंडीगढ़ और हिमाचल के पर्यटक उधर से ही आ सकेंगे. बताया गया कि सुवाखोली की तरफ के स्लाइड जोन को ठीक कर दिया गया है. 65 किलोमीटर सीवरलाइन का निर्माण हो गया है. एसटीपी से जोड़ने का कार्य चल रहा है. निर्देश दिए गए कि देहरादून.मसूरी रोड के अतिक्त्रमण को हटाया जाय. इस दौरान विधायक गणेश जोशी, पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर, डीएम दून एस ए मुरुगेशन, एसएसपी निवेदिता कुकरेती आदि मौजूद रहे.