RANCHI: शुक्रवार या शनिवार को बिजली की बढ़ी हुई दर की घोषणा की जा सकती है. झारखंड स्टेट रेगुलेटरी कमीशन की ओर से गुरुवार देर शाम तक नई दर की घोषणा को लेकर काम किया गया. एक मई से झारखंड में बिजली का बढ़ा हुआ दाम हर हाल में लागू कर दिया जाएगा. नियामक आयोग के चेयरमैन और मेम्बर खुद बढ़े हुए दाम की घोषणा करेंगे.

जनसुनवाई के सुझावों की हुई समीक्षा

नियामक आयोग के मेंबर सचिव एके मेहता ने बताया कि बिजली टैरिफ बढ़ाने का झारखंड बिजली वितरण निगम ने जो प्रस्ताव दिया था. उसके बाद जनसुनवाई में जो सुझाव मिले हैं, उन सभी की स्क्रूटनी की गई. हर पहलू की समीक्षा की जा रही है. जनसुनवाई के दौरान जिन बिंदुओं को नोट किया गया था, उन पर समीक्षा की गई. जनसुनवाई में लोगों ने जो आपत्ति दर्ज की है, उसका भी ध्यान रखा गया है. साथ ही झारखंड बिजली वितरण निगम ने जिस आधार पर दर बढ़ाने का प्रस्ताव दिया है, उस पर भी विचार करके ही दाम बढ़ाया जाएगा.

.......बॉक्स.....

झारखंड चैंबर ने जताया है विरोध

फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर एंड कॉमर्स इंडस्ट्रीज(एफजेसीसीआई)ने झारखंड में बिजली दर बढ़ाने के प्रस्ताव का विरोध करते हुए झारखंड स्टेट इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन में केस दर्ज कराया है. चैंबर के महासचिव कुणाल अजमानी ने बताया कि झारखंड में बिजली वितरण निगम की नाकामियों का ठीकरा आम जनता और व्यवसायियों पर फ ोड़ने की तैयारी है. झारखंड बिजली वितरण निगम की ओर से जिस तरह से प्रस्ताव देने से पहले न ऑडिट रिपोर्ट अपलोड की गई न ही दूसरे कागजात पूरे किए गए और दर बढ़ाने का प्रस्ताव दे दिया गया, यह गलत है. सभी जगह जनसुनवाई भी हो गई, लेकिन जो ऑडिट रिपोर्ट है उसके आधार पर कहीं भी लोगों ने चर्चा नहीं की. इसलिए अब दोबारा से हर जगह जन सुनवाई की जाए उसके बाद ही नया रेट जारी किया जाए.