ओम साई की रसोई रेस्टोरेंट ऐसी कैटेगरी में आता है जहां दाम के मुकाबले टेस्ट कई गुना बेहतर मिलेगा. यह कहना है हमारे फूड जॉकी मुकुल का.

एंबियांस

ऐसे रेस्टोरेंट्स में एंबियांस का बहुत अधिक महत्व नहीं होता. सुबह से शाम तक जबरदस्त रश के बीच कस्टमर्स को टेस्टी भोजन कराना ही अपने आप में स्मार्ट वर्क है. लेकिन, यहां पर सेंट्रलाइज्ड एसी के बीच गद्दीदार कुर्सी पर खाना सुकून से भरा है.

फूड क्वॉलिटी

कड़ाही पनीर को क्रीम और धनिया के साथ अच्छे से गार्निश किया गया था. किचन भी ठीक सामने था, खाने के साथ खाना बनते देखने का मजा उठा सकते हैं. डिशेज को बेहतर तरीके से परोसे जाने से खाने की दिलचस्पी बनी रही. यानी सिर्फ पेट नहीं भरा गया खाने का लुत्फ उठाया गया.

सर्विस

अब इतनी भीड़ होगी तो ऑर्डर थोड़ा देर से सर्व होना आम बात है. इस बीच आप मेन्यू पर टाइम खर्च कर सकते हैं. इसमें ग्रेट वॉल आफ चाइना, पनीर आप की पसंद और राइस खजाना जैसे शब्दों से गुजरना एक अच्छा एक्सपीरियंस देता है.

टेस्ट

कड़ाही पनीर, दाल तड़के के साथ फ्राइड राइस ऑर्डर किया था. खासकर कड़ाही पनीर में पिसी हुई शिमला मिर्च का फ्लेवर पहली बार मिला. इसे खाने में भी अलग ही मजा मिला. प्याज के साथ शिमला मिर्च का क्यूब्स में यूज होना भी मेरे लिए नया एक्सपीरियंस रहा. दाल तड़के में देशी घी, अदरक, प्याज और अदरक का तड़का जबरदस्त रहा. डिशेज थोड़ी तीखी थीं लेकिन स्वाद से भरपूर होने से इसे नजरअंदाज करना ही सही था.

स्पेशलाइजेशन

ओम साई की रसोई रेस्टोरेंट में नॉर्थ इंडियन के साथ साउथ इंडियन और चाइनीज की अच्छी रेंज है. रेस्टोरेंट पूरी तरह वेज है. यहां पनीर लवाबदार, वेज मंचूरियन, शाही खीर भी स्पेशल डिश में शुमार है.

बजट: 500

पता: इलाहाबाद हाईकोर्ट श्रीहनुमान मंदिर के नजदीक

रेटिंग: 4