कौन मारेगा बाजी
स्‍मार्टफोन का बाजार जितनी तेजी से बढ़ता जा रहा है, उतना ही कंप्‍टीशन भी टफ हो रहा। जहां एक ओर एप्‍पल अपने नए iOS 9 का एनाउंसमेंट कर चुकी है, तो वहीं गूगल भी एंड्रायड M को उतारने की तैयारी में जुटा है। लेकिन इनके बीच असली जंग तो वॉयस असिस्‍टेंट को लेकर है। जी हां एप्‍पल जहां Siri का नया वर्जन उतार रही है, जबकि Google Now भी नए अंदाज में नजर आने वाला है। फिलहाल आईओएस और एंड्रायड दोनों यूजर्स इसका बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

Siri :- एप्‍पल कंपनी की मानें, तो आईओएस 9 यूजर्स को सिरी का नेक्‍स्‍ट वर्जन काफी कलरफुल और एक्‍साइटिंग लगेगा। इसमें आप नैवुरल लैंग्‍वेज से भी सर्च कर सकेंगे। जैसा कि एप्‍पल ने अपने यूजर्स से वादा किया था इसके चलते Proactive assistance उनकी उम्‍मीदों पर खरा उतरेगा। इसमें प्राइवेसी के साथ कोई कंप्रोमाइज नहीं किया गया है, जिसके चलते यूजर का इस पर पूरा कंट्रोल होगा। कंपनी का कहना है कि, इस Proactive assistance को एप्‍पल आईडी और एप्‍पल डिवाइस इंफॉर्मेशन के साथ लिंक नहीं किया गया है। इसमें एप्‍पल सर्विस की किसी भी थर्ड-पार्टी को लिंक नहीं किया गया है।

Google Now :-
अब अगर गूगल नाउ वॉयस असिस्‍टेंट की बात करें, तो यह सिरी से काफी अलग है। गूगल नाउ में थर्ड-पार्टी सर्विस जैसे गूगल प्रोड्क्‍ट और ई-मेल सर्विस लिंक की गई है। इसके साथ ही गूगल नाउ के नए वर्जन में किसी भी इंफॉर्मेशन को सर्च करने पर एप्‍स को बंद नहीं करना पड़ेगा। गूगल नाउ अपने यूजर्स को उनकी आदतों के हिसाब से सजेशन दे सकेगा। इसके लिए आपको किसी रेस्‍टोरेंट और मैप की जानकारी पाने के लिए एप पर डिपेंड नहीं होना पड़ेगा। गूगल नाउ में यह सर्विस आपको मिल जाएगी। वहीं यह वॉयस असिस्‍टेंट गूगल नॉलेज ग्रॉफ पर बेस्‍ड है। फ्लॉइट अलर्ट से लेकर ऑनलाइन डिलीवरी तक, यहां तक की मैच स्‍कोर आदि सभी का यह अपडेट देता रहेगा।

Hindi News from Technology News Desk

Technology News inextlive from Technology News Desk