एनआईए ने रार्धना निवासी नईम के बाद जसौरा निवासी अफसार को दबोचा

अजराड़ा में रखा बैग, मोबाइल और कुछ धार्मिक पुस्तकें की जब्त

Meerut. शनिवार को एक बार फिर मेरठ में नेशनल इनवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) ने दस्तक दी. मुंडाली थानाक्षेत्र के अजराड़ा गांव से एनआईए ने पकड़े गए आतंकी अफसार के बैग, मोबाइल और धार्मिक पुस्तकों को जब्त किया है. शीर्ष एजेंसी इस दौरान मेरठ के जसौरा निवासी अफसार को साथ लेकर आई थी. एनआईए ने आतंकी गतिविधियों में लिप्त अफसार को शुक्रवार रात्रि परिजनों ने दिल्ली लेकर एनआईए के सुपुर्द कर दिया था. शनिवार को कार्रवाई के दौरान एसपी देहात राजेश कुमार के निर्देश पर थाना पुलिस के अलावा बड़ी संख्या में पुलिसबल एनआईए टीम के साथ मौजूद था.

मेरठ में है नेटवर्क

गौरतलब है कि अमरोहा, हापुड़ मेरठ समेत विभिन्न स्थानों से एनआईए ने गत 26 दिसंबर को 10 संदिग्धों को गिरफ्तार कर आतंकी संगठन आईएसआईएस के नए मॉड्यूल हरकत उल हर्ब-ए-इस्लाम का खुलासा किया था. हापुड़ के गांव वैट निवासी साकिब की गिरफ्तारी के बाद आतंकियों को हथियार मुहैया कराने में किठौर के रार्धना निवासी नईम का नाम सामने आया था. एनआईए ने 26 दिसंबर को रार्धना में छापामारी की, लेकिन वह फरार मिला. बीती 3 जनवरी को नईम ने सरेंडर कर दिया था.

ताबड़तोड़ छापेमारी

बीती 4 जनवरी को एक ओर कोर्ट ने जहां नईम को 10 दिन की रिमांड एनआईए को सौंप दिया तो वहीं निशानदेही पर एनआईए ने नईम के साथ रार्धना निवासी मतलूब और उसके भाई महबूब के घर छापामारी की थी. हालांकि, दोनों फरार मिले थे. इन पर आतंकियों को हथियार बेचने का आरोप है. वहीं जांच में सामने आया कि वैट निवासी साकिब के साथ मेरठ के गांव जसौरा निवासी मोहम्मद अफसार (24) पुत्र सरफराज भी आतंकी गतिविधियों में शामिल था. एनआईए ने 7 जनवरी को अफसार के घर नोटिस भेजा था, जिसके बाद शुक्रवार रात दिल्ली पहुंच परिजनों ने अफसार को एनआईए के सुपुर्द कर दिया था.

अजराड़ा पहुंची एनआईए

शनिवार सुबह अफसार को लेकर मेरठ पहुंची एनआईए ने सबसे पहले अफसार के जसौरा स्थित घर पर दबिश दी. इसके बाद अजराड़ा पहुंची. अजराड़ा में अफसार की ननिहाल है और वो दिल्ली जाने से पहले अपना बैग, मोबाइल एवं अन्य सामान यहीं पर रख गया था. एनआईए ने मामा के घर से बैग, मोबाइल और कुछ धार्मिक पुस्तकें बरामद कर लीं. बता दें कि अफसार कुछ दिनों से अजराड़ा निवासी अपने मामा कलुवा के घर रह रहा था. अफसार के भाई नासिर व शाहनवाज भी साथ थे. छापेमारी के दौरान मुंडाली, खरखौदा व किठौैर पुलिस और पीएसी एनआईए के साथ रही.

जम्मू-कश्मीर गया था अफसार

मिली जानकारी के मुताबिक मोहम्मद अफसार और साकिब अमरोहा के मदरसे में एक साथ पढ़े थे. वहीं से दोनों की दोस्ती हो गई थी. अफसार मदरसा जामिया हुसैनिया अबुल हसन पिपलेड़ा मसूरी, गाजियाबाद और साकिब हापुड़ स्थित मदरसे में पढ़ाने लगा. एनआईए के मुताबिक अफसार आतंकी षडयंत्र के तहत पिछले साल मई व अगस्त महीने में साकिब के साथ तीन बार जम्मू-कश्मीर गया था.