-सड़क हादसे पर लगाम के लिए सरकार ने 20 लाख कीमत की इंटरसेप्टर करायी है अवेलेबल

-ओवर स्पीड और ड्रंकन ड्राइविंग

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: अक्सर शराब पीकर वाहन चलाने से सड़क हादसे होते हैं, जिसमें कई लोगों की जान जाती है, लेकिन न तो शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर कार्रवाई होती है और न ही शराब पीकर वाहन चलाने से होने वाले हादसों का कोई रिकार्ड तैयार किया जाता है. जबकि रोड सेफ्टी को लेकर तमाम दावे किए जाते हैं और मीटिंग होती हैं, लेकिन नतीजा सिफर ही होता है. पिछले दिनों रोड सेफ्टी को लेकर हुई मंडलीय मीटिंग में संभागीय परिवहन विभाग ने जब चालान का आंकड़ा पेश किया तो चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए. 1 जनवरी 2018 से 31 जुलाई 2018 तक शराब पीकर वाहन चलाने वालों के 17 चालान ही किए गए.

लाखों की गाड़ी सिर्फ नाम के लिए

आरटीओ और ट्रैफिक पुलिस दोनों डिपार्टमेंट के पास इंटरसेप्टर है. एक गाड़ी की कीमत करीब 20 लाख रुपए के आसपास है. यह गाडि़यां ओवर स्पीड और शराब पीकर वाहन चलाने वालों का चालान काटने के लिए ही बनाई गई हैं. इसके अलावा ट्रैफिक पुलिस के पास ब्रीद एनालाइजर भी हैं, लेकिन इनका इस्तेमाल भी नहीं किया जाता है. सिर्फ इन वाहनों से हेलमेट और सीट बेल्ट न लगाने वालों के ही चालान पर ध्यान रहता है. जब अभियान चलता है तब भी शराब पीकर वाहन चलाने और ओवर स्पीड वालों पर एक्शन नहीं लिया जाता है.

जनवरी से जुलाई 2018 तक मंडल में चालान

6870 चालान विदाउट हेलमेट

3239 चालान विदाउट डीएल

1737 चालान विदाउट सीट बेल्ट

1397 चालान विदाउट पॉल्यूशन

1031 चालान विदाउट रिफलेक्टर

573 चालान सस्पेंडेड लाइसेंस

228 चालान ओवर स्पीड

2018 में जनवरी से जून तक हादसे

599-हादसे

244-मौत

543-घायल

वर्ष 2014 से 2016 में हादसों का रिकॉर्ड

-2962 हादसे

-1221 मौत

- 2206 घायल

कॉज ऑफ एक्सीडेंट फेटल ग्रीवियस इंजरी माइनर इंजरी

शराब पीने से 28 22 18

ओवर स्पीड 130 79 39

इम्प्रॉपर ओवरटेकिंग 61 48 41

सिक होने से 45 53 34

अदर इम्प्रॉपर एक्शन 183 152 111

ड्राइविंग रॉन्ग साइड 1 2 0