-चुनाव प्रचार के अंतिम दिन प्रत्याशियों ने की खूब जोर-आजमाइश

-मतदान के लिए पोलिंग टीमों की रवानगी के लिए सभी तैयारियां पूरी

PRAYAGRAJ: थम चुका है चुनावी शोर। अब ओनली डोर टु डोर। जीहां, छठवें चरण में प्रयागराज में मतदान से पूर्व शुक्रवार को कैंपेनिंग का आखिरी दिन रहा। इस दिन सभी प्रत्याशियों ने मतदाताओं को लुभाने के लिए खूब जोर-आजमाइश की। इस बीच शुक्रवार को पोलिंग पार्टियों की रवानगी की तमाम तैयारियां पूरी हो गई।

हर बूथ पर तैनात होंगे चार कर्मचारी

आयोग द्वारा जिले के प्रत्येक बूथ पर चार कर्मचारियों की तैनाती की गई है। इसमें एक पीठासीन अधिकारी और बाकी तीन मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय व तृतीय होंगे। इनको शनिवार को रवानगी स्थल पर उपस्थित होना होगा। फिर इन्हें ईवीएम सहित मतदान सामग्री सौंपी जाएगी। चुनाव सामग्री रिसीव होने के बाद टीम को बस के जरिए पोलिंग बूथ तक पहुंचाया जाएगा। मुंडेरा मंडी से रवानगी स्थल तक शटल बस भी चलाई जा रही है। रवानगी स्थलों पर पेमेंट बेस पर खान-पान की व्यवस्था भी की गई है। मैदानों पर वाहन पार्किंग की व्यवस्था भी की गई है।

किस मैदान से रवाना होगी कहां की टीम

मैदान विधानसभा

एमएनएनआईटी फाफामऊ, सोरांव

एनआरआई प्रिंटिंग कॉलेज फूलपुर

केपी कॉलेज इलाहाबाद पश्चिमी, उत्तरी व दक्षिणी

परेड प्रतापपुर, हंडिया, मेजा, करछना, बारा, कोरांव

बॉक्स

तत्काल मुहैया होगा इलाज

गर्मी को देखते हुए प्रशासन ने बचाव के इंतजाम का जिम्मा स्वास्व्थ्य विभाग को सौंपा है। सीएमओ ने बताया कि प्रत्येक रवानगी स्थल पर दस मई से हेल्थ कैंप लगा दिए गए हैं। यहां पर तैनात डॉक्टर्स मतदान कर्मियों की जांच कर इलाज उपलब्ध कराएंगे। अधिक सीरियस मरीज को हॉस्पिटल रेफर किया जाएगा। इसके अलावा विभाग की ओर से टीमों के लिए छह हजार हेल्थ किट प्रदान की गई हैं। इनमें दवाओं के साथ एक पर्ची भी है जिसमें दवाओं का रेफरेंस दिया गया है।

यह है आंकड़ा

4938 जिले में कुल बूथ

2198 मतदान केन्द्र

04 एक बूथ पर तैनात कर्मचारी

20 हजार कुल तैनाती

10 फीसदी रिजर्व कर्मचारी

बॉक्स

देर शाम तक बसें ढूंढते रहे अधिकारी

मतदान केंद्रों पर मतदानकर्मियों की रवानगी के लिए प्रशासन को 1200 बसों की आवश्यकता थी। इसमें से 1100 बसों का इंतजाम हो चुका था। बाकी बसों के लिए शनिवार शाम आरटीओ के अधिकारी स्कूलों का चक्कर काटते रहे। जहां पर बसें उनकी उचित अवस्था में मिलीं, उन्हें अधिगृहीत कर चुनाव में इंगेज किया। एआरटीओ रविकांत शुक्ला का कहना था कि बसों की गिनती पूरी करने के लिए पांच टीमों को लगाया गया है और जल्द ही आवश्यकता की पूर्ति कर ली जाएगी।