RANCHI: सीजन शादियों का और एटीएम के शटर डाउन. चौंकिए मत. राजधानी रांची में हालात कुछ ऐसे ही हैं. सिटी में एटीएम से पैसे निकालने में अब भी लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है. अधिकतर एटीएम फ‌र्स्ट हाफ में ही आउट ऑफ कैश हो जा रहे हैं. शादी-विवाह के इस सीजन में खरीदारी के लिए कैश की जरूरत सभी को है. इसे देखते हुए लोग सुबह-सुबह एटीएम से पैसे निकालने निकल जाते हैं. जिनसे थोड़ी भी देर हुई, वे घूमते रह जाते हैं. वहीं, अधिकतर को निराशा ही हाथ लग रही है. इन सबके बावजूद बैंकों के अधिकारी कैश क्रंच की स्थिति से इनकार कर रहे हैं.

नो कैश का बोर्ड भी नहीं

एसबीआई के एटीएम को लेकर पिछले दो महीने से जैसी स्थिति उत्पन्न हुई है, उसके बाद एटीएम में पैसे नहीं होने का बोर्ड भी नहीं लगाया जा रहा है. हजारीबाग रोड स्थित एसबीआई के एक एटीएम में बुधवार को दिन के 1.50 बजे पैसे नहीं थे. वहां के गार्ड से पूछा गया कि नो कैश का बोर्ड क्यों नहीं लगाया गया है, तो उसने बताया कि आदेश आया है कि बोर्ड नहीं लगाना है.

निजी बैंकों के एटीएम भी खाली

कैश की कमी के कारण लोग जब इधर-उधर घूमकर निजी बैंकों के एटीएम जा रहे हैं, तो उन्हें वहां भी मायूसी हाथ लग रही है. दरअसल, एसबीआई के एटीएम जल्द ही ड्राई हो जाते हैं, तो लोग दूसरे बैंकों के एटीएम से पैसे निकाल लेते हैं. इस वजह से उनके एटीएम भी खाली हो जाते हैं. नतीजा यह होता है कि लोगों को घूम-घूम कर दर्जनों एटीएम चेक करना पड़ रहा है, तब जाकर किसी एक जगह से पैसे निकल पाते हैं.

16 मई तक है शादियों का सीजन

हिन्दू एवं मुस्लिम समुदाय में इन दिनों शादियों का सीजन चल रहा है. 16 मई तक दोनों ही समुदायों में खूब शादियां हैं. इसे लेकर बाजार में खरीदारी का दौर भी चल रहा है. हालांकि, एटीएम से कैश नहीं निकलने के कारण लोगों को थोड़ी परेशानी जरूर हो रही है. कई लोग तो चेक के माध्यम से बैंक से ही कैश निकालना उचित समझ रहे हैं.

कोट

अभी कैश को लेकर कोई मुसीबत नहीं है. पर्याप्त राशि आरबीआई से मिल रही है. जैसे ही एटीएम में पैसे खत्म होने की सूचना मिलती है, वहां पैसे भिजवाए जाते हैं. कुछ देर के लिए आउट ऑफ कैश होना स्वाभाविक है, लेकिन यह समस्या ज्यादा देर तक नहीं रह रही है.

-सुनील कुमार गुप्ता, एजीएम, जेनरल बैंकिंग, एसबीआई

.........

क्या कहते हैं आम लोग

इस गर्मी में एटीएम से पैसे निकालने के लिए इधर से उधर भटकना बहुत ही तकलीफ देने वाला है. इस समस्या से जल्द निजात मिले, तो बेहतर होगा.

अब्दुल गनी

आम लोगों को हर दिन कैश की जरूरत होती है. ऐसे में एटीएम से पैसे नहीं निकलना मुसीबत का सबब होता है. बैंकों को इस पर ध्यान देना चाहिए.

जॉन टोपनो

आखिर क्या कारण है कि दो साल पहले तक एटीएम आबाद रहते थे, पर आज लगातार शिकायत आ रही है. जब कैश आ रहा है, तो एटीएम कंगाल क्यों हैं?

प्रियम श्रीवास्तव

एटीएम से पैसे निकालने में पसीने छूट रहे हैं. एक तो गर्मी है, ऊपर से कई जगह एटीएम में पैसे नहीं हैं. ऐसे हालात में आखिर आदमी जाए, तो जाए कहां?

रीता देवी